Raj Express
www.rajexpress.co
तहसील में पसरा रहा सन्नाटा
तहसील में पसरा रहा सन्नाटा|Pankaj Yadav
मध्य प्रदेश

छतरपुर: तहसील में पसरा रहा सन्नाटा, 90 फीसदी स्टाफ ने मनाई छुट्टी

छतरपुर, मध्य प्रदेश: विगत रोज डिप्टी कलेक्टर अनिल सपकाले ने हाईकोर्ट का आदेश होने की बात कहते हुए, छतरपुर एसडीएम का एकतरफा चार्ज ले लिया था।

Pankaj Yadav

राज एक्सप्रेस। विगत रोज डिप्टी कलेक्टर अनिल सपकाले ने हाईकोर्ट का आदेश होने की बात कहते हुए छतरपुर एसडीएम का एकतरफा चार्ज ले लिया था। चूंकि एसडीएम का दायित्व केके पाठक निभा रहे हैं, इसलिए बिना कलेक्टर के आदेश के चार्ज में फेरबदल होना संभव नहीं था। ऐसी स्थिति में यहां के कर्मचारी भी संशय में हैं। शनिवार को अनिल सपकाले सुबह साढ़े 10 बजे तहसील पहुंचे और ताला खुलवाकर एसडीएम कक्ष में बैठकर कामकाज शुरू करने का प्रयास करने लगे, लेकिन कोई स्टाफ मौजूद नहीं था, इसलिए वे तन्हा चेम्बर में बैठे रहे।

जानकारी के अनुसार :

जानकारी के मुताबिक, डिप्टी कलेक्टर अनिल सपकाले सुबह साढ़े 10 बजे तहसील कार्यालय पहुंच गए। चूंकि कार्यालय में ताला पड़ा था, इसलिए उन्होंने चपरासी को बुलाकर चेम्बर का ताला खुलवाया और बैठ गए। वे यहां दिनभर बैठे रहे। चूंकि तहसील का 90 फीसदी कर्मचारी नदारद था इसलिए कोई कामकाज नहीं हो सका। दूरदराज से आए लोग दिनभर चक्कर काटते रहे। दो एसडीएम के फेर में कर्मचारियों ने अवकाश ले लिया था। उधर एसडीएम की कुर्सी पर बैठने वाले अनिल सपकाले का कहना है कि, जो कर्मचारी कार्यालय नहीं आया उसे नोटिस दिया जाएगा। सवाल यह है कि कर्मचारी आखिर किसे एसडीएम माने। एक ओर कलेक्टर के आदेश पर केके पाठक एसडीएम का दायित्व संभाल रहे हैं तो वहीं डिप्टी कलेक्टर अनिल सपकाले खुद को एसडीएम बता रहे हैं।

कलेक्टर से छुट्टी लेकर बाहर गए हैं। चूंकि अभी वापस नहीं आए इसलिए कार्यालय नहीं पहुंचे। आने के बाद कार्यालय जाएंगे।

केके पाठक, एसडीएम, छतरपुर

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर ।