Raj Express
www.rajexpress.co
शिक्षकों की मनमानी
शिक्षकों की मनमानी|Pankaj Yadav
मध्य प्रदेश

बेखौफ जारी-शिक्षकों की मनमानी, समय से पहले बंद हो जाते हैं स्कूल

बकस्वाहा, छतरपुर : नगर में शिक्षा व्यवस्था चरमराई हुई है। जहाँ आधे से ज्यादा स्कूलों में शिक्षक नहीं हैं और जिनमें हैं वो ध्यान नहीं देते हैं।

Pankaj Yadav

राज एक्सप्रेस। नगर में शिक्षा व्यवस्था ऐसे चरमराई हुई है जहाँ आधे से ज्यादा स्कूलों में शिक्षक नहीं है और जिनमें हैं वो ध्यान नहीं देते हैं। वहीं जिम्मेदार अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ते नजर आ रहे हैं। मामला बकस्वाहा ब्लॉक के निमानी प्राथमिक, माध्यमिक शाला से सामने आया है जहां 210 बच्चो को पढ़ाने के लिए शिक्षक नहीं आते। जबकि विद्यालय में शिक्षक के रुप मे कुलदीप प्रजापति प्रभारी, दसईया आदिवासी, धर्मेंद्र शर्मा, मनोज पटेल और लीला यादव पदस्थ हैं।

गांव के मिलन यादव ने बताया कि शिक्षक समय से पहले घर चले जाते हैं और कुछ शिक्षक तो नशे की हालत में स्कूल आते हैं जिनका सोशल मीडिया पर वीडियो भी वायरल हो चुका है। सूत्रों की मानें तो जब से फरजाना कुरैशी को बीआरसी बनाया गया है तब से क्षेत्र की शिक्षा व्यवस्था पटरी से और अधिक नीचे उतरते दिखाई दे रही है। जो अक्सर लापरवाह, अनुपस्थित और शराबी शिक्षकों को बचाते नजर आती हैं। इस मामले में संकुल प्रभारी आरसी जैन ने कहा कि शिक्षा के मंदिर में जो इस तरीके के कृत्य किए जा रहे हैं उन शिक्षकों पर कार्यवाही होगी। वहीं बीआरसी ने कहा कि शायद शिक्षकों ने घर जाकर शराब पी होगी फिर भी मैं पता करवाती हूं।

सार्थक एप में अगर उनकी उपस्थिति होगी तो ही उनको तनख्वाह मिलेगी अन्यथा नहीं। जो शिक्षक नशे की हालत में मिले हैं उनकी जांच करवाकर कार्यवाही की जाएगी।

संतोष शर्मा, जिला शिक्षा अधिकारी, छतरपुर

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर ।