Raj Express
www.rajexpress.co
सड़क पर दिया महिला ने बच्चे को जन्म
सड़क पर दिया महिला ने बच्चे को जन्म| Pankaj Yadav
मध्य प्रदेश

छतरपुरः प्रसूता तड़पती रह गई, समय पर नहीं मिला जननी सुरक्षा वाहन

छतरपुर, मध्यप्रदेशः सरकार की योजनाएं क्या महिलाओं की सुरक्षा कर पा रही हैं, जननी सुरक्षा वाहन न मिलने से सड़क पर हुआ महिला का प्रसव।

Pankaj Yadav

हाइलाइट्स

  • प्रसूता ने सड़क पर ही दिया बच्चें को जन्म

  • नहीं पहुंची समय पर जननी सुरक्षा एक्सप्रेस

  • संस्थागत प्रसव कराने पर दे रही है सरकार जोर

  • प्रशासनिक व्यवस्थाओं पर सवाल करता है यह मामला

राज एक्सप्रेस। छतरपुर जिले के बमीठा क्षेत्र में जननी सुरक्षा वाहन न मिलने से महिला का सड़क पर ही प्रसव हो गया नहीं पहुंची समय पर कोई स्वास्थ्य सुविधा।

सरकार संस्थागत प्रसव कराने पर दे रही जोरः

एक ओर संस्थागत प्रसव के लिए सरकार पुरजोर कोशिश कर रही है, तो वहीं दूसरी ओर समय पर वाहन उपलब्ध नहीं हो पा रहा। प्रसव वेदना से तड़प रही महिला को संस्थागत प्रसव कराने के लिए 108 एंबुलेंस को सूचना दी गई लेकिन सूचना मिलने के बावजूद जब एंबुलेंस नहीं पहुंची और प्रसूता का दर्द बढ़ने लगा तो प्रसूता के परिजन दो मोटरसाईकिलों में बैठाकर उसे गंज ले आए यहां कोई कर्मचारी नहीं मिला तो वे बमीठा अस्पताल के लिए निकल गए तभी एनएच 75 में प्रसूता ने सड़क पर ही बच्चे को जन्म दे दिया।

क्या है मामलाः

जानकारी के मुताबिक थाना क्षेत्र के ग्राम बेड़री की रहने वाली रचना अहिरवार पत्नि रामविशाल अहिरवार को प्रसव वेदना के कारण अस्पताल ले जाने के लिए 108 एंबुलेंस को दो बार सूचना दी गई लेकिन जननी को एक्सप्रेस नहीं मिल सकी। एंबुलेंस न आने के कारण परिवार के सदस्यों ने मोटर साईकिल से रचना को गंज अस्पताल पहुंचाया लेकिन यहां कोई कर्मचारी न होने से उसे बमीठा ले जा रहे थे तभी अधिक दर्द होने के कारण रास्ते में परिवार के सदस्य रूके और यहीं पर प्रसूता ने बच्चे को जन्म दे दिया।

प्रशासनिक व्यवस्थाओं पर खड़े करते हैं सवालः

जननी एक्सप्रेस के न मिलने से प्रशासनिक व्यवस्थाओं पर सवाल खड़े हो रहे हैं। क्या सरकार द्वारा चलायी जा रही योजना महिलाओं को उचित स्वास्थ्य सुविधाएं समय पर मुहैया करवा पाएगी या फिर प्रसूता और महिलाएं इसी प्रकार की वेदनाओं से गुजरती रहेंगी?