Raj Express
www.rajexpress.co
50 हजार की फिरौती के लिए युवक का अपहरण
50 हजार की फिरौती के लिए युवक का अपहरण|Sanjay Awasthi
मध्य प्रदेश

छतरपुर : 50 हजार की फिरौती के लिए हुआ युवक का अपहरण

छतरपुर, मध्यप्रदेशः दोपहर एक बजे हुई वारदात, रात 10 बजे रिपोर्ट, सुबह 8 बजे छूटी पकड़ दो आरोपी गिरफ्तार, तीन मौके से फरार।

Sanjay Awasthi

हाइलाइट्सः

  • किसान के बेटे का हुआ अपहरण

  • अपहरणकर्ता 50 हजार फिरौती की कर रहे थे मांग

  • पुलिस ने स्पेशल टीम का गठन कर की कार्रवाई

  • पुलिस की कड़ी मशक्कत के बाद आरोपी हुए गिरफ्तार, तीन फरार

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले के बमीठा थाना क्षेत्र में बीते दिन एक किसान के बेटे के अपहरण की वारदात सामने आयी थी। जिस घटना में पुलिस ने रात भर प्रयास करने के बाद आखिरकार अपहृत युवक को सकुशल छुड़ाकर दो अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है, वहीं तीन अपहरणकर्ता मौके से फरार हो गए हैं।

क्या है मामला:

जानकारी के मुताबिक बीते दिन दोपहर एक बजे ग्राम कुटिया निवासी 22 वर्षीय युवक कल्लू पटेल का अपहरण कर लिया गया था। अपहरणकर्ता सरमन पटेल अपने साथियों के साथ कल्लू को लेकर अपने खेत में पहुंचा और यहां मारपीट करने के बाद उसने कल्लू से ही अपने किसी परिचित को 50 हजार रूपए फिरौती मांगने के लिए फोन लगवाया। यह फोन कल्लू के द्वारा उसके दोस्त अजय को लगाया गया। अजय ने कल्लू के परिवार को पूरी घटना की जानकारी दी जिसके बाद परिवार के लोग थाने पहुंचे।

मामले पर पुलिस ने टीम गठित कर की कार्रवाईः

रात करीब 10 बजे बमीठा थाना पुलिस ने इस मामले की एफआईआर दर्ज की और पुलिस अधीक्षक व एएसपी को मामले की जानकारी दी। एसपी के निर्देश पर रात को ही एक टीम गठित की गई और टीम ने संदिग्ध आरोपी सरमन पटेल के ठिकानों पर छापामार कार्यवाही की।

पुलिस को लगभग 8 घंटों तक मशक्कत करने के बाद सुबह करीब साढ़े 8 बजे सरमन पटेल के खेत में बने एक कमरे से अपहृत युवक कल्लू पटेल को बरामद किया गया। पुलिस को देखकर भाग रहे आरोपियों में से दो आरोपी सरमन पटेल एवं हरीराम पटेल को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने इस मामले में तीन अन्य आरोपियों रामदीन पटेल, गौरीशंकर पटेल एवं रामदयाल पटेल के विरूद्ध अपहरण का मुकदमा कायम किया है।

इस टीम ने किया सराहनीय काम:

8 घंटे के भीतर पकड़ छुड़ाने वाली टीम में मुखिया रहे थाना प्रभारी अरूण शर्मा के अलावा प्रधान आरक्षक कमल सिंह, आरक्षक रामनिवास साहू, रामकृपाल शर्मा, चरण सिंह, हेमराज सिंह, अमित सिंह और मोहन सिंह का अहम योगदान रहा।