छठ पर घाटों पर उमड़ा आस्था का सैलाब, आस्था के कुम्भ से सराबोर हुए लोग

सिंगरौली, मध्य प्रदेश : पुत्र की दीर्घायु की कामना के साथ अस्ताचलगामी सूर्य को व्रतियों ने दिया अर्घ्य। कोरोना महामारी में जारी दिशानिर्देशों के पालन के लिए प्रशासन दिखी मुस्तैद।
छठ पर घाटों पर उमड़ा आस्था का सैलाब, आस्था के कुम्भ से सराबोर हुए लोग
छठ पर घाटों पर उमड़ा आस्था का सैलाबShashikant Kushwaha

सिंगरौली, मध्य प्रदेश। सूर्योपासना का पर्व में सराबोर हुई उर्जाधानी , सिर्फ सिंगरौली ही नही पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले के आदि शक्ति पीठ मां ज्वालामुखी की नगरी ऊर्जांचल में पूरी श्रद्धा के साथ मनाया जा रहा है। कार्ति‍क शुक्ल षष्‍ठी ति‍थि‍ को अस्‍ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य देकर व्रतियों ने अपने पुत्र की दीर्घायु की कामना की। इस दौरान व्रती महि‍लाओं के परि‍जन सूप पर अर्घ्‍य देकर पूरे परि‍वार के लिए छठी मईया से आशीर्वाद मांगा।

सूर्य देवता को चढ़या अर्घ्‍य :

दोपहर से ही एनटीपीसी आवासीय परिसर स्थित चिल्का झील, एनसीएल खड़िया छठ घाट और उर्जांचल के वि‍भि‍न्‍न सरोवरों, कुंडों और तालाबों पर व्रती महि‍लाओं और उनके परि‍जन एकत्रित होने लगे। शाम 5 बजकर 3 मि‍नट पर जैसे ही भगवान भास्‍कर अस्‍त होने लगे, व्रतियों और उनके परि‍जनों ने सूर्य देवता को अर्घ्‍य देकर परि‍वार के कल्‍याण की कामना किया। वहीं कोरोना महामारी को देखते हुए कुछ श्रद्धालुओं ने अपने घर की छतों पर भी अस्‍थायी जलाशय बनाकर छठ पूजा कि‍या और अस्‍ताचलगामी भगवान भास्‍कर को अर्घ्‍य दि‍या। इस बीच प्रशासन के द्वारा भी सतर्कता बरती जा रही , लगातार पुलिस की टीम सुरक्षा के मद्देनजर अलर्ट पर रही।

36 घंटे के नि‍र्जला व्रत :

कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी ति‍थि‍ के दिन अस्त होते हुए सूर्य को अर्घ्य देने की परंपरा है। इसके अगले दि‍न सुबह सुबह ही उदयीमान सूर्य को अर्घ्‍य देकर छठी मईया के व्रत का पारायण कि‍या जाता है। तीन दि‍न के लंबे व्रत और आखि‍र 36 घंटे के नि‍रजला व्रत को करते हुए माताएं अपनी संतान और पूरे परि‍वार के दीर्घायु की कामना करती हैं।

कोरोना महामारी में जारी दिशानिर्देशों के पालन के लिए विभिन्न थाना क्षेत्रों के प्रभारी निरीक्षकों के नेतृत्व में छठ घाटों पर प्रशासन मुस्तैद दिखा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co