Raj Express
www.rajexpress.co
प्रदेशवासियों को क्रिसमस की बधाई
प्रदेशवासियों को क्रिसमस की बधाई|Social Media
मध्य प्रदेश

क्रिसमस की पूर्व संध्या पर प्रदेशवासियों को अग्रिम शुभकामनाएं : CM

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मसीह समुदाय सहित सभी प्रदेशवासियों को क्रिसमस की बधाई और शुभकामनाएं दी हैं।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

राज एक्सप्रेस। क्रिसमस डे ईसाई धर्म के लोगों का सबसे बड़ा त्योहार है जो हर साल 25 दिसंबर को मनाया जाता है। हर साल की तरह इस 25 दिसंबर को भी धूमधाम से सेलिब्रेट किया जाएगा। क्रिसमस डे को ईसा मसीह या यीशु के जन्म की खुशी में मनाया जाता है, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मसीह समुदाय सहित सभी प्रदेशवासियों को क्रिसमस की बधाई और शुभकामनाएं दी हैं।

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शुभकामना संदेश में कहा

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शुभकामना संदेश में कहा कि- प्रभु यीशु द्वारा दिखाए मार्ग पर चलकर मसीह समाज ने मानव सेवा का जो उदाहरण पेश किया, वह सभी समाज के लिए अनुकरणीय है।

मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि ईसाई समाज मानव सेवा के साथ भाई-चारे और शांति का संदेश देता है जिसकी आज पूरी दुनिया को सबसे अधिक आवश्यकता है। कमल नाथ आज सीएम निवास पर आयोजित क्रिसमस के पूर्व कैरोल सिं‍गिंग कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

पी सी शर्मा ने प्रदेशवासियों को क्रिसमस की दी शुभकामनाएं

मध्यप्रदेश के जनसंपर्क मंत्री पी सी शर्मा ने प्रदेश के नागरिकों को क्रिसमस की बधाई एवं शुभकामनाएं दी है। शर्मा ने ट्वीट कर प्रदेशवासियों को क्रिसमस की शुभकामनाएं दी। उन्होंने अपने शुभकामना संदेश में प्रदेश की जनता को पर्व की बधाई दी है। अपने संदेश में उन्होंने कहा कि प्रभु यीशु कि कृपा से सबके जीवन में खुशी, समृद्धि और संपन्नता बनी रहे।

झाबुआ में क्रिसमस के मौके पर ईसाई धर्मगुरूओं का लगेगा मेला

मध्यप्रदेश के आदिवासी बहुल झाबुआ जिला मुख्यालय में क्रिसमस के मौके पर हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी ईसाई धर्मगुरूओं का मेला लगेगा। आज और कल लगने वाले इस मेले को लेकर लोगों में भारी उत्साह एवं उमंग रहता है।

स्थानीय कैथोलिक चर्च परिसर में भगवान ईसा मसीह के जन्म की झांकियां सजाई जाती हैं और पूरे चर्च परिसर को आकर्षक विद्युत रोशनी से सजाया जाता है। आज रात्रि में प्रार्थना एवं पूजा की जाती है। वहीं कल 25 दिसबंर को चर्च में क्रिसमस सेलिब्रेशन किया जाता है। इस दौरान कई आयोजन किये जाते हैं। केरोल गीत गाये जाते हैं।

धर्मगुरूओं का यह मेला पिछले एक सौ ग्यारह वर्षों से लगता चला आ रहा है। इस मेले में बड़ी संख्या में खाने-पीने की दुकानें, झूलें, चकरियां, खेल, तमाशें की दुकानें लगती हैं। वहीं बड़ी संख्या में आदिवासियों सहित नगर के लोग सम्मलित होते हैं। ठंड के बीच आज रात भर मेला चलेगा। भीड़ इतनी रहती है कि पैर रखने तक की जगह नहीं होती है। झाबुआ जिले में बड़े पैमाने पर ईसाई समाज है और यहां पर कई ग्रामीण क्षेत्रों में चर्च स्थापित हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।