पक्षी शास्त्री डॉ. सलीम अली की पुण्यतिथि पर मुख्यमंत्री ने दी श्रद्धांजलि, कुछ ऐसे किया याद
पक्षी शास्त्री डॉ. सलीम अली की पुण्यतिथिSocial Media

पक्षी शास्त्री डॉ. सलीम अली की पुण्यतिथि पर मुख्यमंत्री ने दी श्रद्धांजलि, कुछ ऐसे किया याद

भोपाल, मध्यप्रदेश। भारत के Birdman के नाम से प्रसिद्ध, पक्षी शास्त्री डॉ. सलीम अली की आज पुण्यतिथि हैं, इस मौके पर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर श्रद्धांजलि दी है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। भारत के Birdman के नाम से प्रसिद्ध, पक्षी शास्त्री डॉ. सलीम अली की आज पुण्यतिथि हैं। डॉ. सलीम अली (Salim Ali) की पुण्यतिथि पर देश उन्हें याद कर श्रद्धांजलि दे रहा है। इस मौके पर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर श्रद्धांजलि दी है।

पक्षी शास्त्री डॉ. सलीम अली की पुण्यतिथि पर CM ने किया याद

पक्षी शास्त्री डॉ. सलीम अली की पुण्यतिथि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर उन्हें याद किया है। सीएम ने कहा- भारत के Birdman के नाम से प्रसिद्ध,पक्षी शास्त्री डॉ. सलीम अली की पुण्यतिथि पर विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। आपकी स्मृति में निर्मित 'सलीम अली पक्षी विज्ञान व प्राकृतिक इतिहास केंद्र' और द बुक ऑफ़ इंडियन बर्ड्स जैसी अनेक पुस्तकें आपकी स्मृतियों को अक्षुण्ण बनाये रखेंगी।

डॉ. सलीम अली की पुण्यतिथि पर विश्वास सारंग ने किया ट्वीट

पक्षी शास्त्री डॉ. सलीम अली की पुण्यतिथि पर मध्यप्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने ट्वीट कर उन्हें याद किया है। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग (Vishvas Sarang) ने ट्वीट कर लिखा- भारत में पक्षी-विज्ञान के विकास में अभूतपूर्व योगदान देने वाले, भारत के Birdman के नाम से विख्यात, पक्षी शास्त्री डॉ. सलीम अली जी की पुण्यतिथि पर उन्हें सादर नमन।

सलीम अली का पूरा नाम डॉ सलीम मोइज़ुद्दीन अब्दुल अली था

बता दें, सलीम अली का पूरा नाम डॉ सलीम मोइज़ुद्दीन अब्दुल अली था, ये खासकर पक्षियों से बेहद लगाव रखते थे। पक्षी विज्ञानी और प्रकृतिवादी, वन्‍यजीव संरक्षणवादी के रूप में इन्होने अपना पूरा जीवन लगा दिया था।

एक भारतीय पक्षी विज्ञानी और प्रकृतिवादी थे सलीम अली

सलीम मुईनुद्दीन अब्दुल अली एक भारतीय पक्षी विज्ञानी और प्रकृतिवादी थे। उन्हें "भारत के बर्डमैन" के रूप में जाना जाता है, सलीम अली भारत के ऐसे पहले व्यक्ति थे जिन्होंने भारत भर में व्यवस्थित रूप से पक्षी सर्वेक्षण का आयोजन किया और पक्षियों पर लिखी उनकी किताबों ने भारत में पक्षी-विज्ञान के विकास में काफी मदद की है। 1976 में भारत के दूसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म विभूषण से उन्हें सम्मानित किया गया था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co