जगदीश चन्द्र बसु की पुण्यतिथि पर मुख्यमंत्री ने उनके चित्र पर माल्यार्पण कर किया नमन
जगदीश चन्द्र बोस की पुण्यतिथिSocial Media

जगदीश चन्द्र बसु की पुण्यतिथि पर मुख्यमंत्री ने उनके चित्र पर माल्यार्पण कर किया नमन

भोपाल, मध्यप्रदेश। आज डॉ. जगदीश चन्द्र बसु की पुण्यतिथि है, मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने जगदीश चन्द्र बसु की पुण्यतिथि पर ट्वीट कर नमन किया है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। आज विश्व विख्यात महान भौतिकविद एवं जीवशास्त्री, रेडियो और सूक्ष्म तरंगों की प्रकाशिकी पर कार्य करने वाले प्रथम वैज्ञानिक, रेडियो विज्ञान का पिता माने जाने वाले महान वैज्ञानिक डॉ. जगदीश चन्द्र बसु की पुण्यतिथि है। मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने जगदीश चन्द्र बसु की पुण्यतिथि पर ट्वीट कर नमन किया है।

सीएम ने उनके चित्र पर माल्यार्पण कर किया नमन :

मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने निवास पर रेडियो विज्ञान के जनक, महान वैज्ञानिक जगदीश चन्द्र बसु की पुण्यतिथि पर उनके चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया है। सीएम शिवराज ने कहा- रेडियो विज्ञान के पितामह, महान वैज्ञानिक, सर जगदीश चन्द्र की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं, विज्ञान में आपके अतुलनीय योगदान के लिए विज्ञान जगत और मानवता सदैव आपकी ऋणी रहेगी।

जगदीश चन्द्र बसु रेडियो व सूक्ष्म तरंगो की प्रकाशिकी पर कार्य करने वाले पहले वैज्ञानिक तो थे ही, आपने यह भी साबित किया था कि पेड़-पौधों में भी जान होती है, विज्ञान आपके सिद्धांतों के बिना अधूरा है।

सीएम शिवराज सिंह चौहान

नरोत्तम मिश्रा ने भी किया ट्वीट-

वहीं, नरोत्तम मिश्रा ने भी ट्वीट कर वायरलेस रेडियो का अविष्कार करने वाले महान वैज्ञानिक डॉ.जगदीश चंद्र बसु की पुण्यतिथि पर सादर नमन और विनम्र श्रद्धांजलि दी, नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि उन्होंने रेडियो और माइक्रोवेव ऑप्टिक्स के अविष्कार तथा पेड़−पौधों में जीवन सिद्धांत के प्रतिपादन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

बताते चलें कि, जगदीश चंद्र बसु का निधन आज ही के दिन 23 नवंबर, 1937, गिरिडीह, बंगाल (वर्तमान बांग्लादेश) में हुआ था। जगदीशचन्द्र बोस भारत के प्रसिद्ध वैज्ञानिक थे, जिन्हें भौतिकी, जीवविज्ञान, वनस्पतिविज्ञान तथा पुरातत्व का गहरा ज्ञान था। वे पहले वैज्ञानिक थे जिन्होंने रेडियो और सूक्ष्म तरंगों की प्रकाशिकी पर कार्य किया। वनस्पति विज्ञान में उन्होंने कई महत्त्वपूर्ण खोजें कीं। साथ ही वे भारत के पहले वैज्ञानिक शोधकर्त्ता थे। वे भारत के पहले वैज्ञानिक थे जिन्होंने एक अमरीकन पेटेंट प्राप्त किया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co