बाल आयोग का सख्त रवैया
बाल आयोग का सख्त रवैया|Syed Dabeer Hussain - RE
मध्य प्रदेश

पीड़िता की जानकारी उजागर करने वालों पर आयोग का सख्त रवैया, होगी कार्रवाई

भोपाल, मध्यप्रदेश : मप्र बाल संरक्षण आयोग के सदस्य ने लिखा डीजीपी को पत्र, पीड़िता की पहचान उजागर करने वालों पर सख्त कार्रवाई के लिए की अनुशंसा।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

भोपाल, मध्यप्रदेश। कोरोना संकट के बीच पीड़िता की पहचान उजागर करने वालों पर बाल आयोग सख्त हो गया है। बता दें कि मध्यप्रदेश बाल संरक्षण आयोग ने इस संबंध में डीजीपी को पत्र लिखकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। आयोग के सदस्य ब्रजेश चौहान ने बताया कि पीड़िता की पहचान उजागर करने वालों पर सख्त कार्रवाई होना चाहिए।

ब्रजेश चौहान ने डीजीपी को लिखा पत्र :

मध्यप्रदेश बाल संरक्षण आयोग के सदस्य ब्रजेश चौहान ने डीजीपी को पत्र लिखा है और पीड़िता की पहचान उजागर करने वालों पर सख्त कार्रवाई के लिए की अनुशंसा किया। पीड़िता का नाम, पिता का नाम, पता, घटना स्थल, संस्थान का नाम, पीड़िता के किसी भी परिजन की कोई जानकारी उजागर करने वालो पर कार्रवाई की मांग की है।

ब्रजेश चौहान ने डीजीपी को लिखा पत्र
ब्रजेश चौहान ने डीजीपी को लिखा पत्रSocial Media

सुप्रीम कोर्ट की गाइड लाइन के उल्लंघन का हवाला दिया है। वहीं जे जे एक्ट 2016 की धारा 74 ओर सायबर एक्ट के तहत मामला दर्ज करने की मांग की है। जिन मामलों में पीड़िता की जानकारियां उजागर हुई हैं। उन सबको बाल आयोग ने इकट्ठा किया है। इस मामले में कहा कि लोग बिना सोचे समझे ही सोशल मीडिया में इसे जानबूझकर इस तरह की जानकारी वायरल करने लगे हैं, इसी आधार पर इनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co