Raj Express
www.rajexpress.co
मासूम के साथ खेलते समय हादसा
मासूम के साथ खेलते समय हादसा|Priyanka Sahu -RE
मध्य प्रदेश

भोपाल: मासूम के साथ खेलते समय हादसा-हुई मौत

भोपाल: मासूम बच्‍ची तौलिए को खिड़की पर बांधकर उस पर झूला-झूलने की कोशिश कर रही थी, लेकिन खेलते-खेलते उसके साथ हादसा हो गया, बच्‍ची के गले में तौलिया फंस गई, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

Priyanka Sahu

Priyanka Sahu

राज एक्‍सप्रेस। भोपाल के बैरागढ़ इलाके में स्थित थ्रीईएमई सेंटर में सेना के हवलदार की 10 साल की मासूम बेटी के साथ खेलते समय हादसा हो गया, दरअसल खेलते समय तौलिए से फांसी लग गई, हादसे में बच्ची की मौके पर ही मौत हो गई। घटना के समय बच्ची के साथ पड़ोस में रहने वाले बच्चे भी खेल रहे थे। पुलिस ने इस मामले में मर्ग कायम कर लिया है। शव को शुक्रवार को पीएम के बाद में परिजनों के हवाले कर दिया गया। परिजन बॉडी को लेकर महाराष्ट्र रवाना हो गए हैं।

मामले की जांच शुरू :

पुलिस का कहना है- ''मामले की जांच शुरू कर दी है।''

''थ्रीईएमई सेंटर निवासी अक्षरा जाधव पिता अमोल जाधव (10) कक्षा पांचवीं की छात्र थी, जबकि उसके पिता सेना में हवलदार हैं। गुरूवार की दोपहर छात्रा पड़ोस में रहने वाले बच्चों के साथ में खेल रही थींं। वह तौलिए को खिड़की पर बांधकर उस पर झूला-झूलने की कोशिश कर रही थी, तभी फंदा उसके गले में फंस गया और मासूम को फांसी लग गई।''

टीआई शिवपाल सिंह कुशवाह

परिजनों के बयान दर्ज होने पर होगा घटनाक्रम का खुलासा :

बच्चों की चीख पुकार सुनकर परिजन मौके पर पहुंचे और बच्ची को फंदे से उतरकर उसे लेकर अस्पताल पहुंचे। जहां डॉक्‍टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। अस्पताल की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मृतका का शव बरामद कर उसे पोस्टमार्टम के लिए हमीदिया अस्पताल में स्थित मर्चुरी भेज दिया। शुक्रवार को परिजनों की अगवाही में बॉडी का पीएम कराया गया, जिसके बाद में बॉडी को उनके हवाले कर दिया गयी। रिश्तेदार डेथ बॉडी को लेकर अपने गृह क्षेत्र रवाना हो गए, जहां उसका अंतिम संस्कार किया जाएगा। इधर, पुलिस का कहना है कि, परिजनों के बयान दर्ज होने के बाद ही पूरे घटनाक्रम का खुलासा हो सकेगा, अंतिम संस्कार होने के बाद पुलिस पूरे घटनाक्रम का रिक्रिएशन करेगी।

बीमारी से तंग किशोरी ने दे दी जान :

निशातपुरा पुलिस ने बताया कि, यासमीन पिता अख्‍तर (17) मुरली नगर में रहती थी। कुछ समय पहले वह पेड़ से गिर गई थी और कमर की हड्डी टूट गई थी। दवाई खाने के बाद भी उसे आराम नहीं मिल रहा था, जिससे परेशान होकर उसने गुरूवार को घर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली।