सीएम ने ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर्स ऋण योजना के हितग्राहियों को वितरित किए चेक

"आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश की दिशा में महत्वपूर्ण कदम" मध्यप्रदेश के विभिन्न जिलों से आये हुए मुख्यमंत्री ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर्स ऋण योजना के हितग्राहियों को शिवराज ने चेक वितरित किये हैं।
सीएम ने ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर्स ऋण योजना के हितग्राहियों को वितरित किए चेक
ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर्स ऋण योजनाSocial Media

मध्यप्रदेश। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोविड के संकट को चुनौती के रूप में लिया है तथा वे नया आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश गढ़कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत के सपने को साकार करना चाहते हैं। कोरोना काल में शहरों एवं ग्रामों में पथ पर तथा घूम-घूम कर व्यापार करने वाले छोटे-छोटे पथ विक्रेताओं एवं व्यवसायियों का काम-धंधा बुरी तरह से प्रभावित हुआ। आज मुख्यमंत्री 10 हजार ग्रामीण स्ट्रीट वेण्डर्स को ऋण वितरित किये है।

बता दें कि मुख्यमंत्री से इंदौर, सांवेर के मुकेश जी ने संवाद कर कहा कि वह सब्जी का ठेला लगाकर परिवार का भरण-पोषण करते हैं। ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर्स ऋण योजना से उन्हें 10000 रूपये की राशि मिली है और इससे उन्होंने एक और ठेला खरीद लिया है। अब उनकी आय दोगुनी हो गई है। आज मुख्यमंत्री ने पथ विक्रेता बन्धुओं को प्रतीकात्मक रूप से पीएम स्वनिधि योजना के हितलाभ सौंपे।

शहडोल जिले के राम बिहारी विश्वकर्मा ने मुख्यमंत्री को बताया कि वह फुल्की का ठेला लगाते हैं, लेकिन लॉकडाउन के कारण यह बंद हो गया था। अब उन्हें 10000 रुपए का ऋण मिल गया है, इससे वह अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाएंगे। वही मुख्यमंत्री से चर्चा करते हुए गुना जिले के भागीरथ जी ने बताया कि वह मनिहारी की दुकान लगाते हैं। साइकिल से दूसरे गांवों में जाकर अपना व्यवसाय करते हैं। उन्हें मुख्यमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स ऋण योजना के तहत आसानी से ऋण मिल गया है।

मेरे पथ विक्रेता भाइयो-बहनों आपके चेहरे पर खुशी देखकर मुझे बहुत संतोष हो रहा है। मुख्यमंत्री और सरकार का काम है लोगों की जिंदगी बदलना, उनके जीवन में खुशहाली लाना है।

मुख्यमंत्री ने कहा-

शिवराज ने ट्वीट कर कहा कि गांव व शहर के सभी पथ विक्रताओं को अपना काम-धंधा करने का अधिकार है, आजीविका का अधिकार सबका अधिकार है। इसलिए इनकी जिंदगी को कठिन नहीं बनने दिया जाएगा। इनके व्यवसाय में बाधा बनने वाले जितने भी तत्व हैं उन्हें भी ठीक किया जाएगा, हमारी कोशिश है कि हमारे जरूरतमंद सभी भाई-बहनों को 10 हज़ार रु की मदद मिले। सरकार ब्याज भरेगी। बैंक वाले चिंता न करें। गारंटी मैं ले रहा हूँ, प्रधानमंत्री ने शहरी पथ विक्रेताओं के लिए पीएम स्व-निधि योजना शुरू की।

सभी ग्रामीण पथ विक्रेताओं को परिचय पत्र जारी किया जायेगा। मुझे प्रसन्नता तब होगी, जब आप सम्मानपूर्वक काम करते हुए आनंद के साथ जीवन व्यतीत करें। हमारे पथ विक्रेता बन्धुओं के बच्चे अच्छी शिक्षा प्राप्त करें, आपके जीवन में सकारात्मक बदलाव आए, हम यही चाहते हैं।
सीएम शिवराज ने ट्वीट कर कहा -

वहीं आगे कहा है कि मुख्यमंत्री मिंटो हाल से प्रदेश के 20 हजार हितग्राहियों के खातों में 10-10 हजार रूपए के ब्याज मुक्त ऋण का अंतरण कर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ग्रामीण पथ विक्रेताओं से चर्चा कर रहे हैं। हमने भी सोचा हमारे शहरी के साथ ग्रामीण पथ व्यवसायों के लिए भी योजना बनानी चाहिए। इसलिए हमने मुख्यमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स ऋण योजना प्रारम्भ की, हम सोच रहे हैं कि पथ विक्रेताओं के साथ मिलकर पथ को साफ-सुंदर रखने के लिये कॉपरेटिव स्ट्रीट मैनेजमेंट को हम बढ़ावा देंगे। सहयोगी पथ प्रबंधन को लेकर भी हम विचार कर रहे हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co