सीएम ने 108 संजीवनी एम्बुलेंस एवं जननी एक्सप्रेस के लोकार्पण कार्यक्रम का किया शुभारंभ
संजीवनी एम्बुलेंस एवं जननी एक्सप्रेस के लोकार्पण का शुभारंभSocial Media

सीएम ने 108 संजीवनी एम्बुलेंस एवं जननी एक्सप्रेस के लोकार्पण कार्यक्रम का किया शुभारंभ

भोपाल, मध्यप्रदेश : भोपाल में आयोजित एकीकृत रेफरल ट्रांसपोर्ट प्रणाली अंतर्गत 108 संजीवनी एम्बुलेंस एवं जननी एक्सप्रेस के लोकार्पण कार्यक्रम का मुख्यमंत्री शिवराज ने दीप प्रज्वलन कर शुभारंभ किया।

भोपाल, मध्यप्रदेश। आज मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के लाल परेड ग्राउंड में 108 संजीवनी एम्बुलेंस एवं जननी एक्सप्रेस का लोकार्पण कार्यक्रम आयोजित किया गया है। वहां पहुंचकर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज ने इस कार्यक्रम शुभारंभ किया।

मुख्यमंत्री द्वारा लाल परेड ग्राउंड, भोपाल से एकीकृत रेफरल ट्रांसपोर्ट प्रणाली में 108 संजीवनी एम्बुलेंस एवं जननी एक्सप्रेस का लोकार्पण

मिली जानकारी के मुताबिक, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लाल परेड ग्राउंड, भोपाल में आयोजित एकीकृत रेफरल ट्रांसपोर्ट प्रणाली अंतर्गत 108 संजीवनी एम्बुलेंस एवं जननी एक्सप्रेस के लोकार्पण कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्वलन कर किया, इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री, चिकित्सा शिक्षा मंत्री एवं भोपाल सांसद उपस्थिति रही।

भोपाल में आयोजित कार्यक्रम में सीएम शिवराज ने कहा कि, यह मात्र एंबुलेंस के लोकार्पण का कार्यक्रम नहीं है। यह उन भाई-बहनों जो बीमार हैं, उनकी ज़िंदगी बचाने का अभियान है, आज लाल परेड मैदान का दृश्य अद्भुत है। एम्बुलेंस से मैदान भरा हुआ दिखाई दे रहा है। यह एम्बुलेंस के शुभारंभ का कार्यक्रम मात्र नहीं है। लोगों की जिंदगी बचाने का अभियान है। कोई बीमार हुआ और समय रहते उसे इलाज मिला तो उसकी जान बचाई जा सकती हैं।

प्रधानमंत्री के नेतृत्व में भारत ने कोरोना संकट पर जीत दर्ज की है। प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं को लगातार सुदृढ़ बनाया जा रहा हैं। '108 संजीवनी एम्बुलेंस' जिंदगी बचाने की संजीवनी है। अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस यह एम्बुलेंस समय पर पहुंचकर कई जिंदगियों को बचाने का कार्य करती है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

कार्यक्रम में सीएम ने कही ये बातें :

  • आज लोकार्पित की जा रही एंबुलेंस को पूरे प्रदेश में भेजा जा रहा है। पहले एंबुलेंस सरकारी अस्पतालों से जुड़े थे, लेकिन अब आयुष्मान योजना के तहत 2 करोड़ 82 लाख नागरिकों के लिए भी यह सेवा उपलब्ध रहेगी।

  • मध्यप्रदेश में अब '108 संजीवनी एम्बुलेंस' 2,052 हो गई है। सड़क हादसों में घायल को एंबुलेंस निशुल्क अस्पताल तक पहुंचाएगी, वहीं मरीज आवश्यकता अनुसार इन एंबुलेंस की सुविधा सामान्य किराए पर भी ले सकता है।

  • संजीवनी 108 में कम समय में रिस्पांस मिलता है। अत्याधुनिक, इमरजेंसी सुविधा से लैस यह संजीवनी 108 एम्बुलेंस वाकई में संजीवनी का काम करती है। लोगों की जिंदगी बचाती हैं। हमारे धर्म ग्रंथों में कहा गया है कि ‘शरीरमाद्यं खलु धर्म साधनम्’ यह शरीर माध्यम है सभी धर्मों के पालन करने का, इसलिए शरीर स्वस्थ हो।

  • बीमार कोई हो जाए तो समय पर चिकित्सा सुविधा मिल जाए। मध्यप्रदेश सरकार लगातार स्वास्थ्य क्षेत्र में सुधार कर रही है। आज एम्बुलेंस की संख्या प्रदेश में बढ़कर 2052 हो गई है। यह लोगों की जिंदगी बचाने का काम करेगी। सभी जिलों में यह एम्बुलेंस भेजी जाएंगी।

  • यह एम्बुलेंस पहले सिर्फ सरकारी अस्पताल के लिए उपलब्ध थी। अब यह आयुष्मान योजना के 2.82 करोड़ परिवारों को निजी अस्पतालों में भी पहुंचाने का काम करेगी। कोई नागरिक यदि उसको निजी अस्पताल में भर्ती होना है तो शुल्क देकर इस एम्बुलेंस को बुला सकते हैं।

  • मेरे भाइयों-बहनों, इलाज का महत्व हम सब समझते हैं और हमारा संकल्प है कि मध्यप्रदेश की धरती पर कोई गरीब, असमर्थ व्यक्ति बिना इलाज के न रहे, लोगों की जिंदगी बचाने से बड़ा पुण्य का दूसरा कोई काम नहीं हो सकता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.