CM का जनता के नाम संदेश: सीएम हेल्पलाइन-समाधान ऑनलाइन फिर से शुरू की जाएगी
CM का जनता के नाम संदेशSocial Media

CM का जनता के नाम संदेश: सीएम हेल्पलाइन-समाधान ऑनलाइन फिर से शुरू की जाएगी

भोपाल, मध्यप्रदेश : प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जनता के नाम दिया संदेश, शिवराज ने कहा है कि सीएम हेल्पलाइन योजना एक बार फिर प्रभावी तरीके से शुरू की जाएगी।

भोपाल, मध्यप्रदेश। सोमवार रात 8 बजे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मध्यप्रदेश की जनता को संबोधित किया है। बता दें कि यह प्रसारण दूरदर्शन सहित सभी रीजनल एवं सोशल मीडिया चैनल्स पर दिखाया गया। रात 8 बजे मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनता के नाम संदेश दिया है। इस दौरान मुख्यमंत्री शिवराज ने केंद्रीय कृषि बिल, किसानों की योजनाओं, कोरोना संक्रमण की स्थिति और मिलावट पर कसावट अभियान को लेकर जानकारी दी।

सीएम हेल्पलाइन योजना फिर शुरू की जाएगी : मुख्यमंत्री शिवराज

प्रदेश की जनता के नाम मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने संदेश दिया है शिवराज ने कहा है कि कमलनाथ सरकार ने मुख्यमंत्री हेल्पलाइन योजना ठंडे बस्ते में डाल दी थी, अब प्रभावी तरीके से शुरू करेंगे।

सुशासन सरकार की प्राथमिकता

• सीएम हेल्पलाइन व समाधान ऑनलाइन फिर से शुरू होंगे

• किसानों की चिन्ता पहला कर्तव्य

• धोखा देकर धर्मान्तरण रोकने कानून बनेगा

• सतर्कता बरत कोरोना वायरस को दे मात

मुख्यमंत्री शिवराज ने मध्यप्रदेश की जनता को संबोधित करते हुए किसान, कोरोना, धर्मांतरण को लेकर कही ये बड़ी बात-

शिवराज ने विभिन्न मुद्दों पर प्रदेशवासियों से विचार साझा किए

  • शिवराज ने कहा कि सुशासन मध्यप्रदेश सरकार की प्राथमिकता है, गरीब और किसानों का कल्याण हमारा लक्ष्य है। आमजन के हितों को संरक्षित रखा जाएगा।

  • कोरोना- प्रदेश के कुछ जिलों में कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है, भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, रतलाम और धार जिले में विशेष रूप से ध्यान देने की जरूरत है। सरकार के स्तर पर हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं।

  • धर्मांतरण- कुछ लोग भोली-भाली बेटियों को बहला-फुसलाकर उनसे शादी कर कर लेते हैं, बाद में धर्मांतरण का कुचक्र रचते हैं, हम ऐसे लोगों के विरुद्ध कानून बना रहे हैं। प्रेम की आड़ में ऐसी करतूत नहीं चलेगी।

  • किसान- किसानों के हित में हमने अनेक कदम उठाये हैं, गेहूं के दाने-दाने की खरीद की, फिर ज्वार, बाजरे और अब धान की खरीद भी लगातार जारी रहेगी। खेती को फायदे का धंधा बनायेंगे। कोई कमी नहीं छोड़ेंगे।

    -अगर कोई व्यापारी किसानों की अनलिमिटेड फसलें खरीदना चाहे, तो फिर स्टॉक में लिमिट क्यों होना चाहिए?

    -MSP की व्यवस्था भी लगातार जारी रहेगी, मंडियाँ समाप्त नहीं होंगी! हम पूरी ताकत से किसानों का हित साधने वाले इन क़ानूनों के साथ खड़े हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co