अदम्य साहस और वीरता की प्रतिमूर्ति वीरांगना रानी दुर्गावती की जयंती पर CM ने किया नमन
वीरांगना रानी दुर्गावती की जयंतीSocial Media

अदम्य साहस और वीरता की प्रतिमूर्ति वीरांगना रानी दुर्गावती की जयंती पर CM ने किया नमन

भोपाल, मध्यप्रदेश। आज वीरांगना रानी दुर्गावती की जयंती है, वीरांगना रानी दुर्गावती की जयंती पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने उनके चरणों में कोटि-कोटि नमन किया है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। आज वीरांगना रानी दुर्गावती की जयंती है। बता दें कि, रानी दुर्गावती हमारे देश की वो वीरांगना है, जिन्होंने अपने राज्य की रक्षा के लिए मुगलों से युद्ध कर वीरगति को प्राप्त हो गई, वे बहुत ही बहादुर और साहसी महिला थी। वीरांगना रानी दुर्गावती की जयंती पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने नमन किया है।

सीएम शिवराज ने ट्वीट कर कही ये बात

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने ट्विटर अकाउंट पर ट्वीट करते हुए लिखा- "चन्देलों की बेटी थी, गौंडवाने की रानी थी, चण्डी थी, रणचण्डी थी, वह दुर्गावती भवानी थी" मातृभूमि और आत्मगौरव की रक्षा के लिए रणचण्डी बन जाने वाली, शौर्य एवं साहस का पर्याय, महान वीरांगना रानी दुर्गावती जी की जयंती पर कोटिश: नमन! अपने रणकौशल, चतुराई एवं पराक्रम से मुगल शासकों को छठी का दूध याद दिला देने वाली वीरांगना रानी दुर्गावती जी की गौरवगाथा आज की बेटियों को सदैव आगे बढ़ने और सत्य के लिए लड़ने का साहस देगी।

नारी सशक्तिकरण की आदर्श एवं मातृभूमि की स्वतंत्रता और अस्मिता के लिए युद्ध भूमि में प्राणों की आहुति देने वाली महान वीरांगना के रूप में आपका युगों-युगों तक स्मरण किया जाएगा

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

नरोत्तम मिश्रा ने भी किया ट्वीट

नरोत्तम मिश्रा ने भी ट्वीट कर शौर्य और साहस की प्रतिमूर्ति, भारतीय इतिहास की प्रसिद्ध वीरांगना रानी दुर्गावती जी की जयंती पर शत-शत नमन और विनम्र श्रद्धांजलि दी, उनके शौर्य और पराक्रम की अमरगाथाएं हमें अधर्म और अन्याय के खिलाफ लड़ने के लिए हमेशा प्रेरित करती रहेंगी।

5 अक्टूबर सन 1524 में हुआ था रानी दुर्गावती का जन्म :

रानी दुर्गावती का जन्म 5 अक्टूबर सन 1524 को प्रसिद्ध राजपूत चंदेल सम्राट कीरत राय के परिवार में हुआ था। बता दें कि रानी दुर्गावती का जन्म दुर्गाष्टमी के दिन हुआ था इसलिए इनका नाम दुर्गावती रखा गया था इनके नाम की तरह ही इनका तेज, साहस, शौर्य और सुन्दरता चारों ओर प्रसिद्ध थी। वीरांगना रानी दुर्गावती ने युद्ध में अपने साहस और बहादुरी के साथ दुश्मनों का सामना करते हुए अपने प्राणों की आहुति दे दी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.