भोपाल : बड़ी विकास परियोजनाओं को समय पर पूरा करें
बड़ी विकास परियोजनाओं को समय पर पूरा करेंSocial Media

भोपाल : बड़ी विकास परियोजनाओं को समय पर पूरा करें

भोपाल, मध्य प्रदेश : मुख्यमंत्री ने की क्रियान्वित बड़ी परियोजनाओं की प्रगति पोर्टल पर समीक्षा, हर माह होगी समीक्षा। इससे योजनाओं पर शीघ्रता से अमल होगा और समय पर योजनाएं पूर्ण होंगी।

भोपाल, मध्य प्रदेश। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान प्रदेश में क्रियान्वित बड़ी विकास परियोजनाओं की हर माह समीक्षा करेंगे। प्रगति पोर्टल पर प्रगतिरत योजनाओं की समीक्षा मुख्यमंत्री ने सोमवार को की। पूर्व के कार्यकाल में मुख्यमंत्री द्वारा इस पोर्टल पर योजनाओं की समीक्षा की जाती थी। आज से पुन: समीक्षा प्रारंभ करते हुए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने योजनाओं के क्रियान्वयन में आ रही दिक्कतों का समाधान किया। यह प्रक्रिया हर माह की जाएगी। इससे योजनाओं पर शीघ्रता से अमल होगा और समय पर योजनाएं पूर्ण होंगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा है कि सरकारी बड़ी परियोजनाओं और निजी क्षेत्र के सहयोग से प्रदेश में प्रगतिरत बड़ी परियोजनाओं को समय सीमा में पूरा किया जाए। संबंधित शासकीय विभाग आवश्यक स्वीकृतियां अविलम्ब प्रदान करें और कार्य की गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं किया जाए। परियोजना से प्रभावित लोगों को मुआवजा राशि का त्वरित भुगतान सुनिश्चित किया जाना चाहिए। श्री चौहान लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, ऊर्जा और खनिज संसाधन विभाग अंतर्गत बंडोल समूह जल प्रदाय योजना, गोरखपुरा समूह जल प्रदाय योजना, एडीबी-3, नवीनीकरण ऊर्जा के लिए ग्रीन एनर्जी कॉरीडोर परियोजना, सिंगरौली जिले में स्थापित सुलियारी कोल माइन परियोजना और अमेलिया कोल माइन परियोजना में प्रगति की समीक्षा कर रहे थे।

सिवनी जिले की बंडोल समूह जल प्रदाय योजना :

सिवनी जिले में बंडोल समूह जल प्रदाय योजना 237 करोड़ 57 लाख रुपए लागत की है। इसमें 206 ग्रामों में नल से पेयजल आपूर्ति की जाएगी। इसे आवश्यक स्वीकृतियां प्राप्त कर 31 मार्च 2021 तक पूर्ण करने के निर्देश दिए गए। योजना का कार्य 75 प्रतिशत तक पूरा हो गया है।

राजगढ़ जिले की गोरखपुरा समूह जल प्रदाय योजना :

राजगढ़ जिले में गोरखपुरा समूह जल प्रदाय योजना 161 करोड़ लागत की है। इस योजना में 163 ग्रामों में नल से जल प्रदाय होगा। योजना अंतर्गत 89 प्रतिशत कार्य पूरा हो गया है। इस योजना को 31 मार्च 2021 तक पूर्ण करने के निर्देश दिए गए।

एडीबी-3

मध्यप्रदेश पारेषण एवं वितरण प्रणाली उन्नयन परियोजना, जो कि 1786 करोड़ रुपये की लागत की है, को जून 2021 तक पूर्ण करने के निर्देश दिये गए। परियोजना का 98 प्रतिशत कार्य पूरा हो गया है। एशियाई विकास बैंक के सहयोग से मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी लिमिटेड द्वारा कार्य कराया जा रहा है।

नवीनीकरण ऊर्जा के लिए ग्रीन एनर्जी कॉरीडोर परियोजना :

इस परियोजना के द्वारा सौर ऊर्जा, पवन ऊर्जा, लघु एवं लघुतम जल विद्युत ऊर्जा और बायोमास आधारित योजना से 5800 मेगावाट ऊर्जा का उत्पादन होना है। योजना 2100 करोड़ की है। 90 प्रतिशत कार्य पूरा हो गया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि यह परियोजना मध्यप्रदेश के लिये अतिमहत्वपूर्ण है। उन्होंने परियोजना को समय पर एवं गुणवत्ता के साथ पूर्ण करना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

सिंगरौली जिले में सुलियारी कोल माइन योजना :

सुलियारी कोल माइन परियोजना में जिला सिंगरौली में 1298 हेक्टेयर का सुलियारी कोल ब्लाक है। इसी तरह 1627 हेक्टेयर का अमेलिया कोल ब्लाक है। इस परियोजना के संबंध में मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रभावित लोगों को अवार्ड राशि शीघ्र वितरित की जाए। पुनर्वास और व्यवस्थापन में कोई कमी नहीं रहे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co