हर झुग्गी झोपडी में रहने वालों को 3 साल में मिलेगें पक्के आवास- मुख्यमंत्री
इंदौर, मध्य प्रदेश : विधानसभा-3 के विकास कार्यो का शुभारंभ किया, शहर में स्वेच्छिक लॉकडाउन की सराहना।
हर झुग्गी झोपडी में रहने वालों को 3 साल में मिलेगें पक्के आवास- मुख्यमंत्री
हर झुग्गी झोपडी में रहने वालों को 3 साल में मिलेगें पक्के आवासSocial Media

इंदौर, मध्य प्रदेश। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि आने वाले तीन वर्षों में इंदौर में हर झुग्गी झोपड़ी में रहने वालों को पक्का आवास मुहैया कराया जाएगा। इंदौर एक ऐसा अप्रतिम शहर है जिसने सदियों से समाज को एक दिशा दी है। उन्होंने इंदौर के नागरिकों और व्यापारियों द्वारा सप्ताह में दो दिन स्वेच्छिक लॉकडाउन की पहल की सराहना की। मुख्यमंत्री चौहान ने इंदौर में विधानसभा क्षेत्र क्रमांक 3 में आयोजित विकास कार्यों के शुभारंभ अवसर पर यह बात कही। उन्होंने क्षेत्रीय विधायक आकाश विजयवर्गीय की पहल पर यहाँ 50 करोड़ रुपये के विकास कार्यों का शुभारंभ किया। इस अवसर पर जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट, विधायक रमेश मेंडोला, महेन्द्र हार्डिया, मधु वर्मा भाजपा नगर अध्यक्ष गौरव रणदिवे, जिला अध्यक्ष डॉ. राजेश सोनकर, उमेश शर्मा सहित अन्य वरिष्ठ जनप्रतिनिधि एवं नागरिक उपस्थित थे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विधायक आकाश विजयवर्गीय को योग्य पिता का योग्य पुत्र कहते हुए कहा कि विकास के प्रति जैसी ललक आकाश के मन में है वह सराहनीय है। इस विधानसभा क्षेत्र में विकास कार्य आगे भी निरंतर होते रहेंगे।

पिछली सरकार ने बंद की संबल योजना :

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सरकार बनते ही हमारे समक्ष कोरोना से लडऩे की चुनौती थी। हमने कोरोना से लडऩे के सभी उपाय किये। हमारे प्रयासों को सफलता भी मिल रही है। साथ ही आवश्यक वित्तीय प्रबंधन भी हमारे लिए एक चुनौती था, लेकिन सरकार इस कार्य में पीछे नहीं हटी। यह दुर्भाग्यपूर्ण था कि मध्यप्रदेश में पिछली सरकार में गरीबों के लिए बनी संबल जैसी योजना को बंद कर दिया गया। गरीब परिवार के दुख का सहारा इस योजना में कफन के पैसे भी सरकार ने नहीं दिए। हमारी सरकार बनने पर पुन: इस योजना को पूरी संवेदनशीलता से प्रारंभ किया गया है।

इंदौर ने सदैव मिसाल कायम की :

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने इंदौर के व्यापारिक संगठनों की उस पहल को सराहा, जिसके तहत व्यावसायिक संस्थान सायंकाल छह बजे बंद करने और सप्ताह में दो दिन स्वेच्छिक लॉकडाउन रखने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि इंदौर के नागरिकों ने सदैव ही मिसाल कायम की है। यह अद्भुत शहर है जिसने पिछली गर्मियों में यहाँ से गुज़रने वाले प्रवासी मज़दूरों के खाने से लेकर नंगे पैरों में जूते चप्पल पहनाने तक का इंतज़ाम किया था। इस शहर के जज्बे ने ही स्वच्छता में इसे चौथी बार सिरमौर बनाया है। मुख्यमंत्री ने उम्मीद जतायी की इंदौर चौका ही नहीं छक्का भी लगाएगा।

युवाओं के लिए व्यापक सरकारी नौकरियां :

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि विकास के लिए दिल में तडफ़ ज़रूरी है। मन में सेवा का भाव होना चाहिए, संसाधन तो जुट ही जाते हैं। उन्होनें स्ट्रीट वेंडर योजना को सड़क पर व्यवसाय करने वाले और गरीब लोगों के लिए जीवनदायी बताया। सरकार बिना ब्याज के व्यवसाय प्रारंभ करने के लिए गरीब मेहनतकशों को 10 हज़ार रुपये का ऋण दे रही है। यह एक ऐसी योजना है जिससे कोरोना के कारण रुकी हुई जि़ंदगी की गाड़ी फिर से पटरी में आ जाएगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार युवाओं के लिए सरकारी नौकरी में भर्तियां व्यापक पैमाने पर आरंभ कर रही है।

गरीब परिवारों को खाद्यान्न पर्ची का वितरण :

कार्यक्रम में विधायक आकाश विजयवर्गीय एवं अन्य जनप्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री को विशाल त्रिशूल भेंट कर अभिनंदन भी किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए क्षेत्रीय विधायक आकाश विजयवर्गीय ने मुख्यमंत्री चौहान के प्रति आभार जताते हुए कहा कि उन्होंने विशेष रूप से समय निकाला है। इस कार्यक्रम के कारण विलंब होने से सड़क मार्ग से भोपाल जाएंगे। विधायक विजयवर्गीय ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, कैलाश विजयवर्गीय और विधायक रमेश मेंदोला को सिद्ध पुरुष बताते हुए कहा कि वे जहाँ भी जाते हैं हर कार्य सफलता के साथ सिद्ध होता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co