केवल अपरिहार्य कारणों पर ही हो लॉकडाउन : सीएम
केवल अपरिहार्य कारणों पर ही हो लॉकडाउन : सीएम|Social Media
मध्य प्रदेश

केवल अपरिहार्य कारणों पर ही हो लॉकडाउन : सीएम

भोपाल, मध्य प्रदेश : मास्क और फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करके ही हम कोरोना पर पूर्ण नियंत्रण कर पाएंगे।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

भोपाल, मध्य प्रदेश। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मास्क एवं फिजिकल डिस्टेंसिंग का अनिवार्य रूप से उपयोग करके ही हम कोरोना संक्रमण पर पूरा नियंत्रण कर पाएंगे। लॉकडाउन खुलने पर यदि इसका पालन नहीं किया जाता है, तो पुन: संक्रमण फैल जाता है तथा सारी मेहनत बेकार जाती है। दूसरी ओर लॉकडाउन करने से अर्थव्यवस्था बुरी तरह प्रभावित होती है। अब वर्तमान घोषित लॉकडाउन के पश्चात लॉकडाउन नहीं करना है तथा पूरी सावधानी एवं सतर्कता के साथ विधि एवं नियमों का पालन करते हुए कोरोना को हराना है। मुख्यमंत्री श्री चौहान चिरायु अस्पताल से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे।

मुरैना ने उदाहरण प्रस्तुत किया :

कोरोना की जिलेवार समीक्षा के दौरान पाया गया कि मुरैना में कोरोना संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण पा लिया गया है। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि गत दिनों जिस तरह से वहां संक्रमण फैला उसके बाद जिस तत्परता के साथ वहां इसे रोकने के प्रयास किए गए वे सराहनीय है। अब वहां कोरोना पॉजिटिविटी रेट घटकर 3.03 प्रतिशत हो गया है। मुरैना ने उदाहरण प्रस्तुत किया है। ग्वालियर भी अब नियंत्रण में है वहां बाजार खुल गए हैं। मुख्यमंत्री ने दोनों जिलों के अमले को बधाई दी।

हर केस की जड़ तक जाएं :

ग्वालियर में कोरोना की मृत्यु के प्रकरणों की समीक्षा के दौरान पाया गया कि वहां 4 प्रकरणों में बहुत देर से और गंभीर हालत में अस्पताल आने के कारण व्यक्तियों की जान नहीं बचाई जा सकी। इस संबंध में मुख्य सचिव श्री बैंस ने निर्देश दिए कि हर प्रकरण की जड़ तक जाएं व जांच करें कि प्रकरण लेट क्यों आया। जनता को जागरूक किया जाना आवश्यक है, जिससे लक्षण दिखते ही व्यक्ति को तुरंत अस्पताल लाया जाए। समय पर अस्पताल आने से हर कोरोना संक्रमित व्यक्ति की जान बचाई जा सकती है।

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। सिर्फ शीर्षक में बदलाव किया गया है। अतः इस आर्टिकल अथवा समाचार में प्रकाशित हुए तथ्यों की जिम्मेदारी राज एक्सप्रेस की नहीं होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co