दीनदयाल उपाध्याय की 105वीं जयंती पर CM शिवराज ने किया नई योजना का ऐलान
दीनदयाल उपाध्याय की 105वीं जयंती पर CM शिवराज ने किया नई योजना का ऐलानPriyanka Sahu -RE

दीनदयाल उपाध्याय की 105वीं जयंती पर CM शिवराज ने किया नई योजना का ऐलान

MP के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज दीनदयाल उपाध्याय की 105वीं जयंती के अवसर पर अपना संकल्प व्यक्त कर यह घोषणा की...

भोपाल, मध्‍य प्रदेश। प्रखर राष्ट्रवादी, एकात्म मानववाद और अंत्योदय के प्रणेता पंडित दीनदयाल उपाध्याय की आज 25 सितंबर को 105वीं जयंती है, इस अवसर पर लालघाटी स्थित उनकी प्रतिमा पर मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया। साथ ही 'मुख्यमंत्री भू -अधिकार योजना' की घोषणा की है।

गरीबों को भूखण्ड का स्वामी बनाया जायेगा :

दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा- BJP के हम जैसे करोड़ों कार्यकर्ताओं के प्रेरणास्रोत और भारत के लिए अपना जीवन समर्पित करने वाली महान विभूति पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी के चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित किए। आपके दिखाए मार्ग पर चलकर हम प्रदेश की प्रगति और जनता के विकास के लिए निरंतर कार्यरत हैं। श्रद्धेय पं.दीनदयाल उपाध्याय जी की जयंती पर मैं यह संकल्प व्यक्त करता हूं कि, प्रदेश के गरीबों को रहने की जमीन का पट्टा देकर भूखण्ड का स्वामी बनाया जायेगा। शहरों में जहां जमीन न मिले वहां मल्टी बनाकर आशियाना उपलब्ध कराएंगे।

मुख्यमंत्री भू-अधिकार योजना बनाने की घोषणा :

पं.दीनदयाल उपाध्याय जी की जयंती के अवसर पर CM शिवराज ने "मुख्यमंत्री भू-अधिकार योजना" बनाने की घोषणा करते हुए कहा- 'मुख्यमंत्री भू -अधिकार योजना' लॉन्च कर हम शीघ्र ही योजना का लाभ अपने गरीब भाई-बहनों को देना प्रारंभ करेंगे।''

श्रद्धेय पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी ने मानवता के कल्याण के लिए एकात्म मानव दर्शन दिया। इसके आध्यात्मिकता की बात करें तो एक ही चेतना सभी जड़ और चेतन में है। अर्थात भगवान, उसको किसी भी रूप में हम मानें, वो हम सबके अंदर विराजमान हैं और उन्हीं का प्रकाश हम सब हैं।

मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा आगे यह भी कहा गया कि, ''श्रद्धेय पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी ने कहा कि, मनुष्य ही नहीं, पशु - पक्षियों, पेड़ - पौधों, नदियों, ग्रह, नक्षत्र एवं तारों में भी एक ही चेतना है। इसलिए सबको एकात्म भाव से देखो। उनके इस मंत्र को आत्मसात कर मैं निरंतर सेवा के व्रत को पूर्ण करने का प्रयास कर रहा हूं।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.