CM की वीडियो कॉन्फ्रेंस
CM की वीडियो कॉन्फ्रेंस|Social Media
मध्य प्रदेश

CM की वी़डियो मीटिंग: कई मुद्दों पर चर्चा कर जानी प्रदेश की स्थिति

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान तेंदूपत्ता संग्राहकों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा कर रहे हैं।

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कई मुद्दों पर की अहम बैठक, बता दें कि दोपहर तीन बजे तेंदूपत्ता संग्राहकों के साथ मध्यप्रदेश के मुताबिक शिवराज सिंह चौहान ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में चर्चा के दौरान तीन बजकर 45 मिनट पर प्रमुख सचिव नगरीय विकास और आवास के साथ चर्चा कर रहे हैं।

'मेरे प्रिय तेंदूपत्ता संग्राहक भाइयों - बहनों, नमस्कार! आप सब जानते हैं कि कोरोना से पूरा देश और मध्यप्रदेश प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में लड़ाई लड़ रहा है। उनके नेतृत्व में काफी हद तक हम इसे रोकने में सफल रहे हैं।'

मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा आपको यह बताते हुए मुझे खुशी हो रही है कि कोरोना के संकट में लॉकडाउन के बावजूद हमने लगभग 32 लाख संग्राहकों के माध्यम से 9.74 लाख मानक बोरा से अधिक तेंदूपत्ता संग्रहण कर 26.38 करोड़ रुपए का नगद भुगतान भी कर दिया।

आज से 2018 की तेंदूपत्ता विक्रय बोनस राशि 184 करोड़ रुपए का भुगतान सभी पात्र हितग्राहियों को किया जायेगा। इसका शुभारंभ आज 11 समितियों को 12.82 करोड़ रुपए वितरित कर किया जा रहा है। शेष पात्र हितग्राहियों को समितियों के माध्यम से राशि शीघ्र प्राप्त होगी

मुख्यमंत्री ने एकलव्य शिक्षा योजना में 9 वीं कक्षा से स्नातक के हमारे तेंदूपत्ता संग्राहकों के बेटे-बेटियों को 12 हजार से लेकर ₹50 हजार तक प्रति वर्ष प्रदान किया जाता है। अभी तक लगभग 2200 विद्यार्थियों को 2.32 करोड़ रुपए का भुगतान किया जा चुका है।

आपको बता दें कि वही दोपहर 4 बजे टास्क फोर्स के साथ बैठक की गई तो शाम 5 बजे कृषि और संबंधित क्षेत्रों में पैकेज पर चर्चा शुरू हुई,शिवराज ने टास्क फोर्स के सदस्यों के साथ COVID19 की स्थिति, बचावकार्य, लॉक डाउन एवं कृषि से संबंधित विषयों पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक कर चर्चा कर रहे हैं।

इस संकटकाल में प्रदेश की स्थिति का जायजा लिया जा रहा है मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की वीडियो कॉन्फ्रेंस जारी है।

मध्यप्रदेश सरकार किसान भाइयों को फसल का उचित दाम दिलाने के लिए कृत संकल्पित हैं। राज्य सरकार ने प्रति हेक्टेयर उत्पादकता में वृद्धि को देखते हुए चना और सरसों का उपार्जन प्रति हेक्टेयर 20 क्विंटल करने का महत्वपूर्ण फैसला किया है।

मध्यप्रदेश सरकार किसान भाइयों को फसल का उचित दाम दिलाने के लिए कृत संकल्पित है। राज्य सरकार ने प्रति हेक्टेयर उत्पादकता में वृद्धि को देखते हुए चना और सरसों का उपार्जन प्रति हेक्टेयर 20 क्विंटल करने का महत्वपूर्ण फैसला किया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co