सीएम शिवराज ने कलेक्टर्स और कमिश्नर के साथ की बैठक, इन मुद्दों पर हुई चर्चा
सीएम शिवराज ने कलेक्टर्स और कमिश्नर के साथ की बैठकSocial Media

सीएम शिवराज ने कलेक्टर्स और कमिश्नर के साथ की बैठक, इन मुद्दों पर हुई चर्चा

भोपाल, मध्यप्रदेश। आज मुख्यमंत्री ने कलेक्टर्स-कमिश्नर के साथ बैठक की, बैठक में सीएम शिवराज ने कहा कि- प्रदेश के विकास और जनता के कल्याण के लिये अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश करें।

भोपाल, मध्यप्रदेश। आज मध्यप्रदेश के मुख्यमत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रालय में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा समस्त कलेक्टर्स, कमिश्नर्स, पुलिस अधीक्षकों और पुलिस महानिरीक्षकों के साथ बैठक की, बता दें कि मुख्यमंत्री शिवराज ने इस बैठक में प्रदेश से जुड़े विभिन्न महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा की। सीएम शिवराज ने बैठक में कहा कि- फिर दोहरा रहे हैं कि हम प्रदेश के विकास और जनता के कल्याण के लिये अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश करें।

सीएम ने कलेक्टर्स, कमिश्नर्स, पुलिस अधीक्षकों और पुलिस महानिरीक्षकों के साथ बैठक में कहा कि उन्नतीस दिन काम और तीसवें दिन मूल्यांकन है ये कॉन्फ्रेंस, सीएम शिवराज ने बैठक में कहा- कोई मुख्यमंत्री लगातार हर महीने सुबह से लेकर रात तक ऐसी कॉन्फ्रेंसिंग में चर्चा नहीं करता होगा "मैं मानता हूं कि सुशासन और प्रभावी ढंग से हम काम कर सकें उसका उपकरण है ये कॉन्फ्रेंस, इसलिये ये मेरे लिये बहुत महत्वपूर्ण है।"

बैठक के दौरान सीएम शिवराज ने कहा

  • बुजुर्ग और दिव्यांग लोगों को घर तक राशन पहुंचाने के ग्वालियर में हुआ प्रयोग सराहनीय है, अन्य जिले भी ऐसा सेवा कार्य करें।

  • जनता और जनप्रतिनिधियों को सम्मिलित करके नवाचार करें और स्वच्छता के क्षेत्र में अधिक से अधिक कार्य करें।

  • सभी ज़िले वेतन भुगतान का विशेष रूप से ध्यान रखें, सभी कर्मचारियों को समय पर वेतन मिले, यह सुनिश्चित करें।

  • सीएम ने कहा कि हमें प्रत्येक ज़िले में एक मॉडल गौशाला बनानी है, संबंधित अधिकारी इस ओर ध्यान दें।

हम सभी को राज्य के विकास और लोगों के कल्याण के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ देने का प्रयास करना चाहिए।

सीएम शिवराज ने कहा-

आगे मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा कि मैं सभी को बराबर मानता हूं, जो अच्छा काम करेगा, हम उसकी पीठ थपथपायेंगे। अच्छा काम करने वालों की हमें, प्रदेश को जरूरत है। जो परफॉर्म नहीं करेगा उसको अधिकार ही नहीं है कि इन पदों पर रहकर काम करे। मेरा प्रयास निष्पक्ष मूल्यांकन का है, उसके आधार पर हम आगे बढ़ते हैं।

आपको बताते चलें कि नए वर्ष का आगाज होते ही शिवराज सरकार ने कहा था कि विकास कार्यों और सरकारी योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने में सरकार जुट गई है, इस साल मेरा सिर्फ एक ही लक्ष्य है और वह है 'आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश'। नए साल में दो बार कलेक्टर्स-कमिश्नर की बैठक लेने के बाद सीएम शिवराज ने अधिकारियों को साफ कर दिया है कि कार्य में लापरवाही किसी भी तरह बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co