झलकारी बाई की जयंती और दुर्गादास राठौर की पुण्यतिथि पर सीएम शिवराज ने किया नमन
सीएम शिवराज ने किया नमन Social Media

झलकारी बाई की जयंती और दुर्गादास राठौर की पुण्यतिथि पर सीएम शिवराज ने किया नमन

भोपाल, मध्यप्रदेश। आज झलकारी बाई की जयंती और राष्ट्रवीर, परम योद्धा दुर्गादास राठौर की पुण्यतिथि है। इस मौके पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने उनके चित्र पर माल्यार्पण कर नमन किया है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। आज झलकारी बाई की जयंती और राष्ट्रवीर, परम योद्धा दुर्गादास राठौर की पुण्यतिथि है। झलकारी बाई (Jhalkari Bai) की जयंती और दुर्गादास राठौर (Durgadas Rathore) की पुण्यतिथि पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने निवास स्थित सभागार में उनके चित्र पर माल्यार्पण कर नमन किया है।

सीएम शिवराज ने किया ट्वीट

एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर कहा कि महान वीरांगना, झलकारी बाई की जयंती और राष्ट्रवीर, परम योद्धा श्री दुर्गादास राठौर जी की पुण्यतिथि पर नमन करता हूं, मातृभूमि की रक्षा एवं अपने कर्तव्य के लिए सर्वस्व बलिदान कर देने वाले राष्ट्र के अनमोल रत्नों के रूप में आप दोनों को सदैव याद किया जायेगा।

झलकारी बाई की जयंती :

झलकारी बाई की जयंती पर सीएम ने कर कहा कि तलवार में जिसकी बिजली थी, गोरों पर भी वो भारी थी। शत्रु के शीश क्षण में गिर जाते थे, वो झांसी की झलकारी थी। महान वीरांगना झलकारी बाई की जयंती पर कोटिश: नमन्! मातृभूमि की रक्षा के लिए आपने जो बलिदान दिया, वह सदैव नारी शक्ति का प्रतीक और देश के लिए गौरव का विषय रहेगा। बता दें कि झलकारी का जन्म 22 नवंबर 1830 को झांसी के कोली परिवार में हुआ था, इनके पिता सैनिक थे, इसलिए बचपन से ही हथियारों के साथ खेलना उनका शौक़ बन गया था। झलकारी बाई झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई की नियमित सेना में, महिला शाखा दुर्गा दल की सेनापति थीं।

सीएम ने दुर्गादास राठौर की पुण्यतिथि पर किया याद

वहीं, सीएम शिवराज सिंह चौहान ने दुर्गादास राठौर की पुण्यतिथि पर याद करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की। मारवाड़ के गौरव, मुगलों के काल, वीर शिरोमणि दुर्गादास राठौर पुण्यतिथि पर सीएम शिवराज ने कहा- मातृभूमि की रक्षा और स्वामिभक्ति के लिए सर्वस्व न्योछावर करने वाले सपूत की गौरवगाथा से यह देश प्रेरित होता रहेगा। बता दें कि, आज के दिन (22 नवंबर 1830) दुर्गादास राठौड़ का निधन हो गया था, दुर्गादास राठौड़ एक वीर राजपूत योद्धा थे, जिन्होंने मुगल शासक औरंगज़ेब को युद्ध में पराजित किया था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co