CM शिवराज ने भारतीय जनसंघ के संस्थापक डॉ. मुखर्जी की जयंती पर किया नमन
CM शिवराज ने डॉ. मुखर्जी की जयंती पर किया नमन Social Media

CM शिवराज ने भारतीय जनसंघ के संस्थापक डॉ. मुखर्जी की जयंती पर किया नमन

Bhopal, Madhya Pradesh: आज डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी (Dr.Shyama Prasad Mukherjee) की जयंती है, मध्यप्रदेश के CM ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती पर नमन किया है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। आज भारतीय जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी (Dr.Shyama Prasad Mukherjee) की जयंती है। आज के दिन (6 जुलाई 1901) श्यामा प्रसाद मुखर्जी का जन्म हुआ था, श्यामा प्रसाद मुखर्जी बैरिस्टर और शिक्षाविद थे, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती पर नमन किया है।

सीएम ने ट्वीट कर किया नमन :

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर कहा कि भारतीय जनसंघ के संस्थापक, प्रखर राष्ट्रवादी, महान शिक्षाविद, एवं दक्ष राजनीतिज्ञ डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी की जयंती पर उन्हें शत्-शत् नमन, उनका सहज व्यक्तित्व, विचार, जीवनमूल्य एवं सिद्धांत हमें राष्ट्रनिर्माण के प्रति सदैव प्रेरित करते रहेंगे।

श्रद्धेय डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी के सपनों के सशक्त भारत और समर्थ समाज के निर्माण में हम सबका योगदान ही उनके चरणों में सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा

सीएम शिवराज ने कहा कि-

एक देश में दो विधान, दो प्रधान और दो निशान नहीं चलेंगे के ध्येय की प्राप्ति के लिए श्रद्धेय श्यामाप्रसाद मुखर्जी ने अपना जीवन समर्पित कर दिया, उनका यह सपना भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री के नेतृत्व में धारा 370 की समाप्ति के साथ साकार हुआ। अपने अंदर अनुशासन और सहनशीलता लायें। दूसरों के अंदर दोष निकालने से अच्छा है कि आप अपने विरोधियों की अच्छी कही हुई बात की सराहना करें।-श्यामाप्रसाद

मुखर्जी की जयंती पर सीएम ने उनके चित्र पर माल्यार्पण कर किया नमन

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भारतीय जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती पर उनके चित्र पर माल्यार्पण कर नमन किया। CM चौहान ने कहा कि उनके विचार, जीवनमूल्य एवं सिद्धांत हमें राष्ट्रनिर्माण के प्रति सदैव प्रेरित करते रहेंगे।

पश्चिम बंगाल के कोलकाता में हुआ था मुखर्जी का जन्म

बताते चलें कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी का जन्म पश्चिम बंगाल के कोलकाता में 6 जुलाई 1901 में एक ब्राह्मण परिवार में हुआ था, 1953 में श्यामा प्रसाद मुखर्जी बिना परमिट के जम्मू-कश्मीर की यात्रा पर निकले, जहां उन्हें गिरफ्तार किया गया था, 23 जून, 1953 में जेल में ही उनकी मौत हो गई थी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.