श्रेष्ठ और समर्थ भविष्य के लिए ऊर्जा का संरक्षण परम आवश्यक है : मुख्यमंत्री शिवराज
श्रेष्ठ और समर्थ भविष्य के लिए ऊर्जा का संरक्षण परम आवश्यकSyed Dabeer Hussain - RE

श्रेष्ठ और समर्थ भविष्य के लिए ऊर्जा का संरक्षण परम आवश्यक है : मुख्यमंत्री शिवराज

भोपाल, मध्यप्रदेश। राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस (National Energy Conservation Day) की हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कही ये बात।

भोपाल, मध्यप्रदेश। आज "राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस" है। ऊर्जा संरक्षण और ऊर्जा दक्षता के महत्व के बारे में आम जनता में जागरूकता बढ़ाने के लिए हर साल 14 दिसम्बर को ‘राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस’ (National Energy Conservation Day) मनाया जाता है। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस पर सभी को बधाई देते हुए कही ये बात।

राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं: सीएम

एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने ट्वीट कर कहा- राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं! श्रेष्ठ और समर्थ भविष्य के लिए ऊर्जा का संरक्षण परम आवश्यक है। हमारी आने वाली पीढ़ियों को बेहतर एवं स्वच्छ वातावरण प्राप्त हो, इसके लिए आज से ही प्रयास करना होगा। आज के पावन अवसर पर हम सब संकल्प लें कि ऊर्जा साक्षरता अभियान (UShA) को सफल बनाकर श्रेष्ठ भविष्य के ध्येय की प्राप्ति में योगदान देंगे।आइये, प्रण करें कि ऊर्जा को तनिक भी व्यर्थ नहीं होने देंगे।

ऊर्जा की बचत ही, ऊर्जा का निर्माण है। आइए, दैनिक जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में ऊर्जा की अनावश्यक खपत रोकने, ऊर्जा स्रोतों के संरक्षण तथा लोगों को इसके महत्व के बारे में जागरूक करने का संकल्प लें और आने वाली पीढ़ी को बेहतर भविष्य की सौगात प्रदान करें।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

प्रतिवर्ष पूरे भारत में '14 दिसम्बर' को मनाया जाता है ऊर्जा संरक्षण दिवस

आपको बताते चलें कि, ऊर्जा संरक्षण दिवस प्रतिवर्ष पूरे भारत में '14 दिसम्बर' को मनाया जाता है। भारत में 'ऊर्जा संरक्षण अधिनियम' वर्ष 2001 में 'ऊर्जा दक्षता ब्यूरो' (बीईई) द्वारा स्थापित किया गया था। ऊर्जा दक्षता ब्यूरो एक संवैधानिक निकाय है, जो भारत सरकार के अंतर्गत आता है और ऊर्जा का उपयोग कम करने के लिए नीतियों और रणनीतियों के विकास में मदद करता है। भारत में ऊर्जा संरक्षण अधिनियम का उद्देश्य पेशेवर, योग्य और ऊर्जावान प्रबंधकों के साथ ही लेखा परीक्षकों को नियुक्त करना है, जो ऊर्जा दक्षता परियोजनाओं को लागू करने और ऊर्जा, परियोजनाओं, नीति विश्लेषण, वित्त प्रबंधन में विशेषज्ञ हों।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co