जबलपुर में आयोजित 'बलिदान दिवस कार्यक्रम
जबलपुर में आयोजित 'बलिदान दिवस कार्यक्रमSocial Media

जबलपुर में आयोजित कार्यक्रम में बोले CM- पेसा एक्ट लागू करने वाला MP देश के अग्रणी राज्यों में है

जबलपुर, मध्यप्रदेश। आज जबलपुर में अमर शहीद राजा शंकर शाह और कुंवर रघुनाथ शाह के बलिदान दिवस पर कार्यक्रम आयोजित किया गया है। इस कार्यक्रम में सीएम ने कही ये बातें...

जबलपुर, मध्यप्रदेश। आज जबलपुर में अमर शहीद राजा शंकर शाह और कुंवर रघुनाथ शाह के बलिदान दिवस पर कार्यक्रम आयोजित किया गया है। जबलपुर में आयोजित कार्यक्रम का उपराष्ट्रपति ने मंगुभाई पटेल और मुख्यमंत्री शिवराज की गरिमामयी उपस्थिति में दीप प्रज्ज्वलन कर शुभारंभ किया। वही यहां भारत के उपराष्ट्रपति, जगदीप धनखड़ ने राजा शंकर शाह एवं कुंवर रघुनाथ शाह के बलिदान दिवस पर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धा सुमन अर्पित किए।

मंगुभाई पटेल और मुख्यमंत्री ने उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ का किया स्वागत

इधर मंगुभाई पटेल और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने माननीय उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ का राज्यपाल जनजातीय माला और जनजातीय परंपरा की जैकेट पहनाकर स्वागत किया। इसके बाद उपराष्ट्रपति द्वारा मंगुभाई पटेल, मुख्यमंत्री की गरिमामयी उपस्थिति में जनजातीय वर्ग के बच्चों के लिए एक महाविद्यालयीन छात्रावास, तीन सीनियर छात्रावास समेत अन्य परियोजनाओं का भूमिपूजन किया गया।

इस दौरान सीएम शिवराज ने कहा कि, शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले, वतन पर मरने वालों का यही बाकी निशां होगा। जनजातीय नायक राजा शंकर शाह, कुंवर रघुनाथ शाह, टंट्या मामा, भीमा नायक, भगवान बिरसा मुंडा जैसे अनेक वीरों ने देश की आजादी के लिए अपना सब कुछ न्योछावर कर दिया। माँ रानी दुर्गावती, वीरांगना रानी अवन्ती बाई समेत अनेक क्रांतिकारियों ने देश को आजाद कराने के लिए अपनी जिंदगी कुर्बान कर दी। आज उन सभी को मेरा प्रणाम। सीएम बोले- पिछली साल यह तय किया गया था कि छिंदवाड़ा विश्वविद्यालय का नाम राजा शंकर शाह विश्वविद्यालय किया जाएगा। आज मुझे बताते हुए प्रसन्नता है कि छिंदवाड़ा विश्वविद्यालय का नाम राजा शंकर शाह विश्वविद्यालय कर दिया गया है।

सीएम शिवराज ने कही ये बातें

  • मुझे बताते हुए खुशी है कि प्रधानमंत्री ने तय कर दिया है कि 15 नवंबर भगवान बिरसा मुंडा के जन्मदिन को जनजातीय 'गौरव दिवस' के रूप में पूरे भारत में मनाया जाएगा। यह दिन जनजातीय गौरव के नाम हो गया है।

  • अगर किसी ने नियम विरुद्ध बिना लाइसेंस के निर्धारित ब्याज दरों से ऊपर किसी गरीब आदिवासी भाई को कर्जा दिया है तो वैसा कर्जा माफ कर दिया जाएगा वो उसे वसूल नहीं कर पाएंगे। सरकार आपके साथ खड़ी है।

  • मुझे आपको यह बताते हुए प्रसन्नता है कि 827 वन ग्रामों को राजस्व ग्राम बना दिया गया है, वहां रहने वाले हमारे भाई-बहनों को समस्त सुविधाएं प्रदान की जायेंगी।

  • पेसा एक्ट लागू करने वाला मध्यप्रदेश देश के अग्रणी राज्यों में से है।

  • राशन का जो परिवहन दुकानों तक ठेकेदारों के माध्यम से होता था, अब वह जनजातीय युवाओं के माध्यम से होगा। इसको पहुंचाने के लिए जो वाहन लगेगा, वह भी जनजातीय बेटों का होगा, ताकि वे आर्थिक रूप से समृद्ध हो सकें।

वहीं राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने अपने भाषण में कहा कि, भगवान देते हैं तो छप्पर फाड़ कर देते हैं। उसी तरह से प्रदेश सरकार और मुख्यमंत्री शिवराज जनजातीय वर्ग के व्यापक विकास के लिए एवं पूरे जनजातीय समुदाय के उन्नयन के लिए कार्य कर रहे है। माननीय उपराष्ट्रपति, जगदीप धनखड़ जी ने आज जबलपुर में 1857 की क्रांति के अमर शहीद राजा शंकर शाह एवं कुंवर रघुनाथ शाह के बलिदान दिवस पर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धा सुमन अर्पित किए।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co