बालाघाट में बोले सीएम शिवराज- स्वास्थ्य की रक्षा के लिए हम कोई कसर नहीं छोड़ेंगे
बालाघाट में बोले सीएम शिवराजSocial Media

बालाघाट में बोले सीएम शिवराज- स्वास्थ्य की रक्षा के लिए हम कोई कसर नहीं छोड़ेंगे

बालाघाट, मध्यप्रदेश। बालाघाट जिले में आयोजित जिला स्तरीय स्वास्थ्य शिविर एवं स्व-सहायता समूह सम्मेलन में सीएम ने कहा कि, जनता की सेवा के लिए मामा के पास पैसों की कोई कमी नहीं है।

बालाघाट, मध्यप्रदेश। आज मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री ने बालाघाट के किरनापुर में जिला स्तरीय स्वास्थ्य शिविर एवं स्व-सहायता समूह सम्मेलन तथा मलेरिया नियंत्रण हेतु जागरूकता के हस्ताक्षर अभियान का शुभारंभ किया तथा स्वास्थ्य शिविर की व्यवस्थाओं का अवलोकन भी किया। आज बालाघाट जिले के किरनापुर में स्व. दिलीप की स्मृति में आयोजित जिला स्तरीय स्वास्थ्य शिविर एवं स्व-सहायता समूह सम्मेलन में सीएम ने कहा कि, मैं आज स्व. दिलीप के चरणों में प्रणाम करता हूं। उन्होंने अपनी सेवा, सरलता, सहजता से लोगों के हृदय में विशिष्ट स्थान बनाया था। उनके जनसेवा और विकास के कामों को हम लगातार आगे बढ़ाते रहेंगे।

मुख्यमंत्री की गरिमामयी उपस्थिति में बालाघाट जिले में स्वास्थ्य शिविर एवं स्व-सहायता सम्मेलन

सीएम ने कहा कि, मैं स्व. दिलीप भटेरे जी के चरणों में प्रणाम करता हूं। उन्होंने सहजता, सरलता, सेवा, समर्पण, प्रमाणिकता से जन सेवा का एक इतिहास रचा, स्व. दिलीप भटेरे जी जनता के बीच अत्यंत लोकप्रिय रहे। प्रिय बहनों और भाइयों हमारे वो पूर्वज जिन्होंने अपने लिए कुछ किया है। उन्हें हमें कभी भुलाना नहीं चाहिए। मैं उनको स्व. भटेरे जी के चरणों में प्रणाम करता हूं। इस सम्मेलन में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, इस जिला स्तरीय स्वास्थ्य शिविर से कोई निराश नहीं लौटै, हम यह सुनिश्चित करेंगे। इसके लिए चाहे प्रदेश के किसी भी स्थान पर भेजना पड़े, भेजने और इलाज की समुचित व्यवस्था की जायेगी।

जनता की सेवा के लिए मामा के पास पैसों की कोई कमी नहीं है। स्वास्थ्य की रक्षा के लिए हम कोई कसर नहीं छोड़ेंगे
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

सीएम शिवराज सिंह चौहान बोले- कोविड काल में अपने माता-पिता को खो चुके बच्चों के लिए हमने तय किया कि उनके बड़े होने तक 5 हजार रुपए महीना पेंशन, नि:शुल्क राशन और पढ़ाई की व्यवस्था की जाएगी। मध्यप्रदेश की धरती पर मामा के रहते कोई भी बच्चा अनाथ नहीं रहेगा।

स्वास्थ्य शिविर एवं स्व-सहायता सम्मेलन में सीएम शिवराज ने कही ये बातें

◆स्व. भटेरे जी की पुण्यतिथि के अवसर पर यह तय किया कि जनसेवा का एक महायज्ञ हो जाए। स्वास्थ्य शिविर में अलग-अलग बीमारियों से पीड़ित हमारे भाई और बहन का मेडिकल चेकअप करें। यहां यदि इलाज संभव हो तो इलाज करें, नहीं तो जहां भी इलाज होगा वहां उनका इलाज कराएंगे।

◆स्व-सहायता समूह कि हमारी मातृ शक्ति चमत्कार कर रही हैं। यहां नवाचार हुआ है, हमारी बहनों को रोड रोलर दिया गया है। ये बहनें बरी, पापड़, आचार तो बनाएंगी। कोदो-कुटकी की प्रोसेसिंग का काम करेंगी। राशन की दुकान चलाएंगी। अब रोड रोलर चलाकर सड़क भी बनाएंगी।

◆मध्यप्रदेश में 800 करोड़ रुपए का रेडी-टू-ईट आहार बनाने का काम हमने स्व-सहायता समूह के महासंघ को दिया है। 7 आहार केंद्र हमारी बहनें चला रही हैं। स्कूल में यूनिफॉर्म बनाने का काम भी समूह की बहनों को दिया गया है। राशन बांटने का भी काम दिया है।

◆किरनापुर वालों को बताते हुए मुझे खुशी है कि मध्यप्रदेश में 3 लाख सेल्फ-हेल्फ ग्रुप काम कर रहे हैं, जिसमें 40 लाख बहनें काम कर रही हैं और उनका सालाना टर्नओवर 20 हजार करोड़ रुपए का है। मेरी कई बहनें लखपति क्लब में शामिल हो चुकी हैं। बहुत अच्छा काम कर रही हैं।

◆8 मई को हम लाड़ली लक्ष्मी उत्सव मना रहे हैं। 43 लाख से अधिक लाड़ली लक्ष्मी बेटियां हो गई हैं। 2012 में मध्यप्रदेश में 1 हजार बेटों पर 912 बेटियां जन्म लेती थीं, अब 1 हजार बेटों पर 956 बेटियां जन्म ले रही हैं। यह लाड़ली लक्ष्मी योजना का चमत्कार है

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.