बच्चों तुम देश के कर्णधार हो, शिक्षा व खेल समेत हर क्षेत्र में आगे बढ़ो : सीएम शिवराज
बाल दिवस 2021Priyanka Yadav-RE

बच्चों तुम देश के कर्णधार हो, शिक्षा व खेल समेत हर क्षेत्र में आगे बढ़ो : सीएम शिवराज

भोपाल, मध्यप्रदेश। 14 नवंबर को पंडित जवाहर लाल नेहरु के जन्मदिन पर बाल दिवस मनाया जाता है। एमपी के सीएम ने पंडित नेहरू के जन्मदिन ‘बाल दिवस‘ की सभी को बधाई देते हुए कही ये बात।

भोपाल, मध्यप्रदेश। 14 नवंबर को पंडित जवाहर लाल नेहरु के जन्मदिन पर बाल दिवस मनाया जाता है। बाल दिवस का मौका सिर्फ बच्चों ही नहीं, बड़ों के लिए भी खास होता है। आज एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भारत के प्रथम प्रधानमंत्री भारत रत्न पंडित जवाहर लाल नेहरू के जन्मदिन 14 नवम्बर "बाल दिवस" पर सभी बच्चों सहित प्रदेशवासियों को बधाई दी है।

सीएम ने ट्वीट कर कही ये बात

एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर कहा- सभी बच्चों को बाल दिवस की हार्दिक बधाई। बच्चों तुम देश के कर्णधार हो। शिक्षा व खेल समेत हर क्षेत्र में आगे बढ़ो। अपना लक्ष्य तय कर लो और उसे प्राप्त करने के पथ पर निकल पड़ो। एक सुंदर और सफल भविष्य तुम्हारी प्रतीक्षा कर रहा है। मेरी शुभकामनाएं सदैव तुम्हारे साथ हैं।

प्रदेश और देश के मेरे प्यारे बेटे-बेटियों तुम सदा खुश रहो, तुम्हारी निर्मल व निश्छल मुस्कान बनी रहे। पढ़ो-लिखो आगे बढ़ो, माता-पिता तथा प्रदेश एवं देश का नाम रौशन करो।

सीएम शिवराज सिंह चौहान

नरोत्तम मिश्रा ने भी किया ट्वीट

एमपी के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने ट्वीट कर कहा- "कितनी प्यारी दुनिया इनकी, कितनी मृदु मुस्कान। बच्चों के मन में बसते हैं, सदा, स्वयं भगवान" देश-प्रदेश के सभी बच्चों को मेरी ओर से बाल दिवस की स्नेह भरी शुभकामनाएं। प्रिय बच्चों, मैं आप सभी के उज्ज्वल भविष्य की कामना करता हूं।

बता दें कि, आजाद भारत के पहले प्रधानमंत्री और बच्चों के प्यारे चाचा नेहरू पंडित जवाहरलाल नेहरू देश को प्रगति के पथ पर ले जाने वाले पथप्रदर्शक थे। स्वतंत्र भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू का जन्म इलाहाबाद में 14 नवंबर, 1989 को एक धनाढ्य वकील मोतीलाल नेहरू के घर हुआ था, नेहरू कश्मीरी वंश के सारस्वत ब्राह्मण थे, जवाहरलाल नेहरू ने 1912 में वकालत शुरू की। 1916 में उनकी शादी कमला नेहरू के साथ हुई, उन्हें आधुनिक भारत का रचयिता माना जाता था।

बच्चों की अहमियत को रेखांकित करते हुए नेहरूजी ने कहा था कि बच्चे देश का भविष्य हैं, और हम जिस प्रकार से इन्हें बड़ा करते हैं उससे देश के भविष्य की दिशा तय होती है। उनका मानना था कि बच्चे समाज और मानवता में अपना योगदान देने की असीम क्षमता रखते हैं। बच्चों के लिए इसी प्रकार के अनूठे प्रेम कारण वे चाचा नेहरू के नाम से भी जाने जाते थे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co