ऑक्सीजन टैंकरों के निर्बाध परिवहन की सभी स्तरों से हो निगरानी: सीएम शिवराज
सीएम शिवराजSocial Media

ऑक्सीजन टैंकरों के निर्बाध परिवहन की सभी स्तरों से हो निगरानी: सीएम शिवराज

भोपाल, मध्यप्रदेश। एमपी में वैश्विक महामारी कोरोना से हाहाकार की स्थिति बनी हुई है, इस बीच CM ने कहा है कि ऑक्सीजन टैंकरों का निर्बाध परिवहन सुनिश्चित किया जाए।

भोपाल, मध्यप्रदेश। एमपी में जहां वैश्विक महामारी कोरोना से हाहाकार की स्थिति बनी हुई है वहीं दूसरी तरफ मध्यप्रदेश में ऑक्सीजन की कमी से मौतों का सिलसिला रुक नहीं रहा है, इस बीच मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि ऑक्सीजन टैंकरों का निर्बाध परिवहन सुनिश्चित किया जाए और इसकी सभी स्तरों पर निगरानी की जाए।

CM ने कोरोना ग्रुप की बैठक को कल संबोधित करते हुए कहा

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने निवास से वीडियों कॉन्फ्रेंस द्वारा कोरोना ग्रुप की बैठक को कल संबोधित करते हुए कहा कि होम आइसोलेशन की व्यवस्था को प्रभावी बनाकर चिकित्सालयों पर दबाव को कम किया जा सकता है, कोविड केयर सेंटरों से चिकित्सालयों में स्थानांतरित किए गए रोगियों के संबंध में जानकारी संकलित कर उसके अध्ययन के आधार आवश्यक सुधार किए जाएं।

कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने में कोरोना कर्फ्यू कारगर साबित हो रहा है, विगत दस दिनों से प्रकरणों की संख्या लगभग स्थिर है। जनता द्वारा कोरोना कफ्यरू के प्रभावी क्रियान्वयन से यह संभव हुआ है, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जिलों में संक्रमण नियंत्रण के प्रभावी प्रयास हुए हैं, इस दिशा में और अधिक प्रयासों की जरूरत है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा-

बैठक में CM शिवराज ने बताया-

प्रदेश में 72 प्रतिशत संक्रमित व्यक्ति होम आइसोलेशन में हैं। चिकित्सालयों में 28 प्रतिशत संक्रमित उपचाराधीन हैं। प्रदेश में प्रकरणों की संख्या स्थिर हुई है। भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर में भी संक्रमण की संख्या स्थिर हो गई है। ग्रामीण अंचल और शहरी क्षेत्रों होम आइसोलेशन में रह रहे संक्रमितों के साथ दूरभाष पर सतत सम्पर्क किया जा रहा है। ग्रामीण, शहरी अंचलों में मेडिकल किट वितरित किया जा रहा है। सभी ग्राम पंचायतों में कोविड केयर सेंटर बनाए गए हैं और उनको हेल्पलाइन से भी जोड़ा गया है।

बता दें कि प्रदेश में 8 हजार 472 कोविड केयर सेंटर कार्यरत हैं, उनमें ऑक्सीजन बेड की व्यवस्था भी की जा रही है। अभी तक 523 बेड तैयार हो गए हैं, जिनमें 56 प्रतिशत भरे हुए हैं। इंदौर में राधास्वामी सत्संग द्वारा जन-सहयोग से आई.सी.यू. बेड का निर्माण कार्य तेज गति से किया जा रहा है। बीना में एक हजार बिस्तर के अस्पताल निर्माण का कार्य भी तेज गति से चल रहा है। चिकित्सालय की ऑक्सीजन आवश्यकता के अतिरिक्त करीब 80 टन ऑक्सीजन की आपूर्ति की व्यवस्था भी की जा रही है। भोपाल जिले में मेडिकल बैकअप उपलब्ध कराने के लिए 500 बिस्तर के कोविड केयर सेंटर के माध्यम से प्रयास किए गए हैं। इस सेंटर में दो चिकित्सकों और छह नसरें की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। इसके अतिरिक्त विभिन्न समाजों द्वारा भी कोविड केयर सेंटर बनाए जा रहे हैं, कोविड केयर सेंटर बनाने का कार्य भी तेज गति से किया जा रहा है।

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co