सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आज स्मार्ट पार्क में लगाए ये पौधे, कही यह बात
सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आज स्मार्ट पार्क में लगाए ये पौधेSocial Media

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आज स्मार्ट पार्क में लगाए ये पौधे, कही यह बात

प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) रोजाना पौधरोपण करते हैं। इसी कड़ी में शिवराज सिंह चौहान ने आज भोपाल के स्मार्ट पार्क में तीन पौधे लगाए हैं।

भोपाल, मध्यप्रदेश। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) रोजाना पौधरोपण करते हैं। शिवराज सिंह कितने भी व्यस्त क्यों न हो पौधरोपण के लिए समय निकाल ही लेते हैं और किसी न किसी स्थान पर पौधे अवश्य लगाते हैं। इसी कड़ी में शिवराज सिंह चौहान ने आज भोपाल के स्मार्ट पार्क में तीन पौधे लगाए हैं।

बता दें कि, शिवराज सिंह चौहान ने वन डे वन प्लांट की दिशा में एक टीवी चैनल के पदाधिकारी और अन्य सहयोगियों के साथ पीपल, नीम और कचनार के पौधे लगाए हैं। इस अवसर पर कार्तिक नाईक और उनके साथियों ने भी पौधरोपण किया। इसके साथ उन्होंने प्रदेश के सभी नागरिकों से अनुरोध किया कि, वह भी धरती और इस पर जीवन को बचाने के लिए पौधारोपण अवश्य करें।

इस कार्यक्रम में युवतियों ने चित्र और पर्यावरण पर केंद्रित विशेष बधाई पत्र भेंट किए। शिवराज सिंह चौहान ने इस दौरान कहा कि, अपनी बेटियों व प्रदेश के सभी नागरिकों से अनुरोध करता हूं कि धरती और इस पर जीवन को बचाने के लिए पौधरोपण सबसे महत्वपूर्ण है। पौधे अवश्य रोपिये।

इस दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को दो बालिकाओं द्वारा बनाए गए चित्र और पर्यावरण पर केंद्रित मुख्यमंत्री श्री चौहान के रुझान को रेखांकित करते विशेष बधाई पत्र भी भेंट किए गए। मुख्यमंत्री चौहान ने संस्था के पर्यावरण प्रेम की प्रशंसा की।

नीम, पीपल और कचनार पौधे के फायदे:


नीम का पौधा- नीम का पेड़ गर्मी में ठंडी हवा देता है। इस पेड़ का हर हिस्सा किसी न किसी बीमारी के इलाज में कारगर है। एंटीबायोटिक तत्वों से भरपूर नीम को सर्वोच्च औषधि के रूप में जाना जाता है। नीम स्वाद में भले ही कड़वा हो, लेकिन इससे होने वाले लाभ अमृत के समान है, इस औषधीय पौधे का उपयोग विभिन्न दवाओं के निर्माण में किया जाता है।

पीपल का पौधा- पीपल एक छायादार वृक्ष है। यह पर्यावरण शुद्ध करता है। इसका धार्मिक और आयुर्वेदिक महत्व है। प्रकृति विज्ञान के अनुसार पीपल का वृक्ष दिन-रात दोनों समय ऑक्सीजन छोड़ता है जो पर्यावरण के लिए महत्वपूर्ण है। पीपल के पेड़ को अक्षय वृक्ष भी कहा जाता है क्योंकि ये पेड़ कभी भी पत्तों से विहीन नहीं होता।

कचनार का पौधा- कचनार सुंदर फूलों वाला वृक्ष है" कचनार के छोटे अथवा मध्यम ऊंचाई के वृक्ष पूरे भारत में पाए जाते हैं। प्रकृति ने कई पेड़ पौधों को औषधीय गुणों से भरपूर रखा है इन्हीं में से कचनार एक है। मार्च मध्य के बाद फूलों से लदने वाले इस पेड़ की पत्तियां, तना व फूल आदि सभी उपयोगी हैं। कचनार की गणना सुंदर व उपयोगी वृक्षों में होती है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co