Bhopal: सफलता के मंत्र कार्यक्रम में CM शिवराज ने बच्‍चों के लिए बताए सफलता के मंत्र
Bhopal: सफलता के मंत्र कार्यक्रम में CM शिवराज ने बच्‍चों के लिए बताए सफलता के मंत्रPriyanka Sahu -RE

Bhopal: सफलता के मंत्र कार्यक्रम में CM शिवराज ने बच्‍चों के लिए बताए सफलता के मंत्र

सफलता के मंत्र कार्यक्रम में CM शिवराज ने कहा- मैं सब बच्चों से कहना चाहता हूं कि, आत्मविश्वास से भर जाओ और लक्ष्य तय कर लो। माता-पिता से निवेदन है कि बच्चों को अपना रास्ता चुनने दो...

हाइलाइट्स :

  • भोपाल के मिंटो हॉल में 'सफलता के मंत्र' कार्यक्रम

  • UPSC में चयनित प्रतिभागियों को किया सम्मानित

  • CM ने दीप प्रज्ज्वलन कर कार्यक्रम का किया शुभारंभ

  • CM शिवराज का प्रतिभागियों से संवाद किया

भोपाल, मध्‍य प्रदेश। मध्‍य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल के मिंटो हॉल में आयोजित हुए 'सफलता के मंत्र' कार्यक्रम में पहुंचे, इस दौरान उन्‍होंने UPSC में चयनित बच्चों तथा प्रतियोगी परीक्षाओं के प्रतिभागियों से संवाद कार्यक्रम से पहले परंपरा का निर्वहन करते हुए मंच पर कन्या पूजन किया और तत्पश्चात दीप प्रज्ज्वलन कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

मध्यप्रदेश देश का दिल है :

सफलता के मंत्र कार्यक्रम में मध्‍य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने UPSC में चयनित प्रतिभागियों को शॉल-श्रीफल भेंट कर सम्मानित भी किया। साथ ही UPSC में चयनित बच्चों तथा प्रतियोगी परीक्षाओं के प्रतिभागियों से संवाद किया। इसके बाद CM शिवराज ने अपने संबोधन में कहा- आज अष्टमी का दिन है। नवरात्रि साधना का पर्व है। यह ऊर्जा प्राप्त करने का पर्व है। यह साधना का पर्व है और सिद्धि साधना से ही प्राप्त होती है। अष्टमी के दिन हमने इसलिए चुना कि, पूरे मध्य प्रदेश के बेटा-बेटियों को आपके माध्यम से प्रेरित कर सकें। मध्यप्रदेश देश का दिल है, लेकिन तुमने मध्यप्रदेश का दिल जीत लिया है। मेरा सीना गर्व से चौड़ा हो गया है। मध्यप्रदेश ने नया रिकॉर्ड बनाया है। गर्व से मैं कह सकता हूँ कि मध्यप्रदेश में प्रतिभा सम्पदा भी है। ये इन बच्चों से सिद्ध कर दिया है।

जब मैंने प्रतिभाशाली बच्चों को अभाव में देखा तो मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी योजना बनाई, जिसमें तय किया कि आईआईटी, मेडिकल में भी एडमिशन होगा तो फीस मम्मी-पापा नहीं भरवाएंगे, मामा भरवाएगा। दिल में जब तड़प होती है तो ऐसी योजनाएं निकलती हैं।

मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

दिल में जब तड़प होती है तो ऐसी योजनाएं निकलती हैं :

MP के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया- जब मैंने प्रतिभाशाली बच्चों को अभाव में देखा तो मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी योजना बनाई, जिसमें तय किया कि आईआईटी, मेडिकल में भी एडमिशन होगा तो फीस मम्मी-पापा नहीं भरवाएंगे, मामा भरवाएगा। दिल में जब तड़प होती है तो ऐसी योजनाएं निकलती हैं। समस्याएं तो रोज आती हैं, लेकिन इन समस्याओं को सुलझाने के लिए ही तो हम हैं। कुछ करने की लगन बनी रहनी चाहिए। आज लाखों बच्चे सुन रहे हैं। उनसे कहना चाहता हूं कि सफलता का पहला मंत्र आत्मविश्वास है।

CM शिवराज के संबोधन की बातें-

  • मैं सब बच्चों से कहना चाहता हूं कि, आत्मविश्वास से भर जाओ और लक्ष्य तय कर लो। माता-पिता से निवेदन है कि बच्चों को अपना रास्ता चुनने दो। लक्ष्य प्राप्ति के लिए दृढ़ इच्छा शक्ति चाहिए, जो साधना, तपस्या और संयम सिखाएगी।

  • आपने तय कर लिया और उसे पूरा करने के लिए बेचैन हो गए तो भगवान ऐसी शक्ति प्रदान कर देंगे कि, आप वह निश्चित ही कर जाओगे।

  • एक वचन आज मैं आपको देता हूं कि जैसा सहयोग चाहिए, वैसा सहयोग प्रदान करेंगे। पहले भी हमने कई योजनाएं बनाई हैं। चिंता मत करना नई योजना बनानी होगी तो हम वह भी बना देंगे

  • मैं एक अपील और कर रहा हूं कि आपके कोई सुझाव हों कि हम कैसे प्रवेश परीक्षाओं में या किसी और तरह से सहयोग कर सकते हैं तो अपने सुझाव http://mp.mygov.in पर अवश्य भेजिए। अपने बच्चों की वित्तीय सहायता से लेकर अन्य किसी तरह के भी सहयोग की जरूरत होगी तो हम कदम पीछे नहीं हटाएंगे।

  • जब बच्चे मुझे मामा कहते हैं तो मेरे मन में दो भाव उत्पन्न होते हैं। एक मामा का मतलब, जिसके अंदर दो मांओं का प्यार हो। दूसरा MAMA. यानी M मतलब मेंटर (मार्गदर्शक), A मतलब अवेलेबल (उपलब्ध), M मतलब मोबिलाइजर (सुविधाएं जुटाने वाला) और A मतलब एफिनिटी (आत्मीयता)

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.