सीएम शिवराज का बयान
सीएम शिवराज का बयानSocial Media

सिद्धा पहाड़ आस्था का केंद्र है और वहां किसी भी कीमत पर खनन कार्य नहीं होगा: सीएम शिवराज

भोपाल, मध्यप्रदेश : एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने लिया बड़ा फैसला, बयान देते हुए कहा कि सिद्धा पहाड़ पर नहीं होगा खनन।

भोपाल, मध्यप्रदेश। 'सिद्धा' पहाड़ पर खनन का मुद्दा गर्माया हुआ है, सिद्धा पहाड़ पर उत्खनन के मामले को लेकर बढ़ते विरोध के बीच मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का बयान आज सामने आया है। इस मामले पर सीएम ने बड़ा फैसला लेते हुए कहा कि, सिद्धा पहाड़ आस्था का केंद्र है और वहां पर किसी भी कीमत पर खनन कार्य नहीं होगा।

सीएम शिवराज ने किया ट्वीट :

एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर लिखा है कि, "सिद्धा पहाड़, सतना जैसे अमूल्य सांस्कृतिक धरोहर स्थान जो हमारे आस्था और श्रद्धा के केंद्र हैं, यहां की पवित्रता को अक्षुण्य रखा जाएगा । यहां उत्खनन किसी कीमत पर नहीं होगा। सतना जिला प्रशासन को निर्देश दे दिए गए है"

इस मामले को लेकर दिग्विजय सिंह का भी बयान सामने आया था, BJP पर सतना जिले स्थित सिद्धा पहाड़ के खनन की साजिश का आरोप लगाते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा कि, ये पहाड़ सनातन धर्म में अहमियत रखता है। दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर लिखा- सतना ज़िले में हमारे सनातन धर्म व आस्था के प्रतीक भगवान श्री राम की यात्रा में सिद्धा पहाड़ का महत्व जानिए। इस पहाड़ को भाजपा का खनन माफिया खनिज निकालने का षड्यंत्र कर रही है। क्या इसका विरोध नहीं करना चाहिए?

 सीएम शिवराज का बयान
दिग्विजय सिंह ने BJP पर लगाया सिद्धा पहाड़ के खनन की साजिश का आरोप, ट्वीट कर कही ये बात

बता दें, मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा इस पहाड़ पर खनन के मामले को लेकर लोक सुनवाई के निर्णय संबंधित कई खबरें मीडिया में सामने आईं थीं। इसके बाद से ये मामला विवाद में आ गया था। लोकमान्यताओं के अनुसार सिद्धा पहाड़ वह स्थान है, जहां प्रभु श्रीराम ने इस भूमि को निशाचरों से मुक्त कराने की प्रतिज्ञा की थी। ये स्थान राम वनगमन पथ पर स्थित है। कहा जाता है कि ये पहाड़ राक्षसों का निशाना बने ऋषि-मुनियों की अस्थियों से बना है। इसके पहले इस मामले को लेकर लगातार विरोध सामने आ रहा था। कमलनाथ और पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह समेत सतना जिले के कांग्रेस विधायकों ने इस मुद्दे का विरोध करना शुरु कर दिया था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co