सीएम शिवराज ने तेंदूपत्ता संग्राहकों के खातों में अंतरित किए 191.44 करोड़
सीएम शिवराज ने दिया तेंदूपत्ता संग्राहकों को सौगातSyed Dabeer Hussain - RE

सीएम शिवराज ने तेंदूपत्ता संग्राहकों के खातों में अंतरित किए 191.44 करोड़

भोपाल, मध्यप्रदेश। शिवराज सरकार ने कोरोना आपदा के बीच तेंदूपत्ता संग्राहकों को खुश खबरी दी है CM ने तेंदूपत्ता संग्राहकों के खातों में 191.44 करोड़ रुपए की प्रोत्साहन राशि का वितरण किया।

भोपाल, मध्यप्रदेश। एक तरफ जहां कोरोना को रोकने के लिए सीएम कई प्रयास कर रहे हैं वहीं दूसरी तरफ शिवराज सरकार ने कोरोना आपदा के बीच तेंदूपत्ता संग्राहकों को खुश खबरी दी है, मिली जानकारी के मुताबिक एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज तेंदूपत्ता संग्राहकों के खाते में प्रोत्साहन पारिश्रमिक राशि ट्रांसफर की है।

CM ने तेंदूपत्ता संग्राहकों को 191.44 करोड़ रुपये की राशि वितरित की :

बता दें कि सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आज तेंदूपत्ता संग्राहकों को 191.44 करोड़ रुपये की प्रोत्साहन पारिश्रमिक राशि सिंगल क्लिक के माध्यम से वितरित की है, सीएम ने कहा कि हम कोरोना में कई तरह के परेशानियों से जूझ रहे हैं ऐसे समय में तेंदूपत्ता संग्राहकों को ये राशि काफी मदद पहुंचायेगी।

मेरे भाइयों-बहनों, कई बार आपको वनोपज औने-पौने दाम पर बेचना पड़ता था, हमने वनोपज का समर्थन मूल्य तय कर दिया, हमारी प्रतिबद्धता है कि आपके पसीने की पूरी कीमत मिले।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

मुख्यमंत्री ने इस मौके पर प्रदेश के कुछ तेंदूपत्ता संग्राहकों से वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत भी की। सीएम ने शिवराज ने बताया कि प्रोत्साहन पारिश्रमिक में 2017-18 के जिन समितियों के तेंदूपत्ता का विक्रय नहीं हुआ था उनका बोनस भी शामिल है, 2019 का बोनस भी शामिल है। अभी कुछ तेंदूपत्ता समितियों का पत्ता बिका नहीं है। बिकने के बाद उन समितियों का बोनस दिया जायेगा।

इस दौरान सीएम शिवराज ने कही ये बात :

इस बीच मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आज हम ये तय कर रहे हैं कि तेंदूपत्ता की तुड़ाई करने वाले भाई बहनों को हम संबल योजना में शामिल करेंगे। दुर्घटना में मौत हुई तो, सामान्य मृत्यु, अंतिम संस्कार, बेटी की शादी, बेटा बेटी के जन्म पर इस योजना के तहत बहनों भाइयों को लाभ मिलेगा।

वहीं इसी के साथ मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि इस बार वन विभाग ने तय किया है कि 86 केंद्रों पर बीज तोड़ के चिरौंजी निकाल के प्रोसेस कर के चिरौंजी बेचेंगे, अभी अचार के बीज के पूरे दाम नहीं मिलते, लेकिन चिरौंजी निकाल के बेचेंगे तो ज्यादा पैसा मिलेगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co