आज सीएम ने शाजापुर जिले की समीक्षा की
आज सीएम ने शाजापुर जिले की समीक्षा कीSocial Media

CM ने ली शाजापुर की बैठक, कहा- लोगों के काम बिना लिए दिए समय-सीमा में हों, यही सुशासन है

भोपाल, मध्यप्रदेश। आज सुबह सीएम ने शाजापुर जिले की विकास गतिविधियों, जन-कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन और कानून-व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा बैठक की।

भोपाल, मध्यप्रदेश। सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने अपनी सुबह की बैठकों के सिलसिले में आज शाजापुर जिले की बैठक ली है। इस बैठक में स्कूल शिक्षा मंत्री, कलेक्टर दिनेश जैन सहित जिले के सभी प्रशासनिक और पुलिस अधिकारी वर्चुअली जुड़े थे।

मुख्यमंत्री ने आज सुबह 6.30 बजे निवास से की बैठक :

मुख्यमंत्री ने आज सुबह 6.30 बजे निवास से वीसी के माध्यम से शाजापुर जिले में योजनाओं के क्रियान्वयन व विकास कार्यों की प्रगति की समीक्षा की, बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा- लोगों के काम बिना लिए दिए समय-सीमा में हों, यही सुशासन है। सीएम हेल्पलाइन, गवर्नेंस वन-डे, सीएम ऑनलाइन इसे सुनिश्चित करने की दिशा में प्रयास हैं। सीएम हेल्पलाइन को सुशासन का प्रभावी साधन बनाना है। सूचना प्रौद्योगिकी के इस युग में लोग अपने कामों के लिए शासकीय कार्यालयों के चक्कर नहीं काटना पड़े, ऐसी व्यवस्था स्थापित करनी है।

शाजापुर जिले की विकास गतिविधियों, जन-कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन और कानून-व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा करते हुए सीएम ने सीएम हेल्पलाइन में दर्ज प्रकरणों के समाधान में सर्वोच्च 5 जिलों में सम्मिलित होने के लिए शाजापुर जिले की सराहना की। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि शाजापुर जिला सुशासन में आदर्श बनने का प्रयास करे। विकास कार्यों,जन-कल्याणकारी योजनाओं,थाना स्तर पर भ्रष्टाचार करने वालों की जानकारी तत्काल प्राप्त करने जिला स्तर पर सूचना तंत्र विकसित किया जाए। जिन अधिकारी-कर्मचारियों के विरुद्ध भ्रष्टाचार की शिकायतें हैं उनके विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जाए तथा ईमानदारी और लगन से कार्य करने वालों को प्रोत्साहित किया जाए।

सीएम शिवराज ने जिले में हुए नवाचार, पेयजल आपूर्ति की स्थिति, राशन वितरण, प्रधानमंत्री आवास योजना के कार्य, स्वास्थ्य व्यवस्था, आंगनबाड़ियों के संचालन, अमृत सरोवर योजना और कानून-व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने एक जिला-एक उत्पाद में जारी गतिविधियों, महिला स्वसहायता समूह को प्रोत्साहित करने के लिए संचालित कार्यों की जानकारी भी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि आंगनबाड़ियों को शिक्षा, स्वास्थ्य, खेलकूद और संस्कारों के केंद्र के रूप में विकसित करना है, इसे शाजापुर जिला टॉस्क के रूप में लें।

उन्होंने कहा कि जिले के प्याज के निर्यात की प्रक्रिया का स्थानीय लोगों को प्रशिक्षण दिलवाकर शाजापुर से सीधे अन्य देशों में निर्यात की व्यवस्था विकसित की जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि शाजापुर जिले से ही ऊर्जा साक्षरता अभियान शुरू किया गया था। अत: बिजली बचाने के लिए शाजापुर जिला पूरे प्रदेश में आदर्श स्थापित करे। बिजली बचाने के प्रयासों में निरंतरता जरूरी है। तब कलेक्टर शाजापुर ने जानकारी दी कि जिले के सभी स्कूल, कॉलेजों में बिजली बचत के लिए विद्यार्थियों के क्लब गठित किए गए हैं। शासकीय कार्यालयों में भी अनावश्यक बिजली नहीं जलाने को लेकर अधिकारियों-कर्मचारियों को विशेष निर्देश दिए गए हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co