सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आदिम जनजाति महिलाओं से की चर्चा
सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आदिम जनजाति महिलाओं से की चर्चा|Social Media
मध्य प्रदेश

सीएम ने आदिम जनजाति महिलाओं के खातों में दो-दो हजार रुपये अंतरित किए

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सहरिया, भारिया एवं बैगा महिलाओं के खातों में दो-दो हजार रूपये अंतरित किये। 2 लाख 26 हजार महिलाओं के खातों में 44 करोड़ 60 लाख से अधिक राशि जमा।

Aditya Shrivastava

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को मंत्रालय से प्रदेश की पिछड़ी जनजातियों सहरिया, बैगा तथा भारिया की 2 लाख 26 हजार 362 महिलाओं के खातों में 44 करोड़ 60 लाख 77 हजार रूपये की राशि अंतरित की है। इस अवसर पर आदिम जाति कल्याण मंत्री मीना सिंह समेत विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे।

मुख्यमंत्री ने आदिवासी महिलाओं के साथ वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा कर अपने विचार सांझा किए। बताया कि प्रदेश के 15 जिलों श्योपुर, मुरैना, भिण्ड, ग्वालियर, शिवपुरी, गुना, अशोकनगर, दतिया, शहडोल, उमरिया, अनूपपुर, छिंदवाड़ा, मंडला, बालाघाट तथा डिण्डौरी में विशेष पिछड़ी जनजातियों सहरिया, भारिया एवं बैगा की महिलाओं के लिये आहार अनुदान योजना चलाई जा रही है। इसके अंतर्गत उन्हें हर महीने एक-एक हजार रूपये की राशि दी जाती है। आज उनके खातों में अप्रैल एवं मई माह की राशि जमा की गई। पिछले कुछ महीनों में महिलाओं को यह राशि नहीं मिल पाई थी। अब नियमित रूप से राशि मिलेगी। सीएम ने महिलाओं से कहा कि वे इस राशि का उपयोग पौष्टिक भोजन के लिये करें, जिससे उनका स्वास्थ्य ठीक रहे।

मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए महिलाओं से कहा कि कोरोना संकट के इस दौर में आपसे मिलने नहीं आ पा रहा हूँ, परंतु मुझे अपने आदिवासी भाई-बहनों की पूरी चिंता है। सरकार द्वारा तेन्दूपत्ता संग्रहण, वनोपज संग्रहण करवाया जा रहा है। जिससे आदिवासी भाई-बहनों को आमदनी हो सके। वनोपजों महुआ, करंज बीज, अचार चिंरोजी, साल बीज आदि सबके अच्छे दाम सरकार ने तय किये हैं। इसी दर पर सरकार आपकी वनोपज खरीदेगी। तेन्दूपत्ता का बोनस भी दिया जायेगा। रोजगार के लिए मनरेगा के काम भी चालू किये गये हैं।

आदिवासी बहनों से कहा कि आप सुखी रहें तथा बच्चों को खूब पढ़ायें। उन्होंने कहा कि सरकार ने सहरिया, बैगा एवं भारिया जनजातियों को अलग से नौकरी देने की व्यवस्था की है। बच्चों को छात्रवृत्ति दिये जाने के साथ ही उच्च शिक्षा के लिये फीस की व्यवस्था भी की गयी है। कोरोना संकट के समय सावधानी रखें। दो गज की दूरी बनाकर रखें। कोरोना समाप्त होने पर मैं, मंत्री मीना सिंह के साथ आपसे मिलने आऊँगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co