भोपाल : नवंबर की ठंड तोड़ रही रिकार्ड, ठिठुरन बढ़ी

भोपाल, मध्य प्रदेश : राजधानी में ठंड के मौसम के आगाज के साथ ही नवंबर महीने में ठंड के रिकार्ड टूटने लगे हैं। मौसम के तेवर ठंडे होने के साथ ही ठिठुरन महसूस हो रही है।
भोपाल : नवंबर की ठंड तोड़ रही रिकार्ड, ठिठुरन बढ़ी
नवंबर की ठंड तोड़ रही रिकार्ड, ठिठुरन बढ़ीSocial Media

भोपाल, मध्य प्रदेश। राजधानी में ठंड के मौसम के आगाज के साथ ही नवंबर महीने में ठंड के रिकार्ड टूटने लगे हैं। मौसम के तेवर ठंडे होने के साथ ही ठिठुरन महसूस हो रही है। शनिवार-रविवार की दरमियानी रात दो साल बाद नवंबर माह में अब तक की सबसे सर्द रही। बीती रात के मुकाबले शनिवार रात को तापमान डेढ़ डिग्री सेल्सियस गिरकर 10.5 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया, जो कि सामान्य से चार डिग्री कम था। वहीं, शनिवार का दिन भी नवंबर में दस साल का सबसे ठंडा दिन रहा था। जबकि रविवार को अधिकतम तापमान में 1.3 डिग्री की बढ़ोत्तरी हुई और पारा 26.3 डिग्री रिकॉर्ड किया गया, जो सामान्य से दो डिग्री कम रहा। प्रदेश के 13 स्थानों पर न्यूनतम तापमान 7 से 10 डिग्री के बीच रहा। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि प्रदेश और आसपास बने वेदर सिस्टम समाप्त होने और हवा का रुख उत्तरी होने से ठिठुरन बढ़ गई है। मौसम विज्ञानियों ने अगले दो दिन तक ठंड के तेवर तीखे बने रहने की संभावना जताई है। मौसम विज्ञानी इस साल पहले ही ठंड के दिन अधिक होने के साथ ही कड़ाके की ठंड पडऩे का अनुमान व्यक्त कर चुके हैं।

कुछ और रिकार्ड तोड़ सकती है ठंड :

मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि वर्ष 2018 में नवंबर में सबसे सर्द रात को तापमान 11.4 डिग्री सेल्सियस था। जबकि वर्ष 2017 में नवंबर में सबसे सर्द रात को तापमान 9.6 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। साहा के अनुसार एक दो दिन में न्यूनतम तापमान और नीचे जा सकता है। यह वर्ष 2017 के रिकॉर्ड को भी तोड़ सकता है। पश्चिमी विक्षोभ के लगातार आने के कारण इस बार ठंड ज्यादा पड़ेगी।

क्यों बढ़ी ठंड :

साहा ने बताया कि वेदर सिस्टम समाप्त होने और हवा का रुख उत्तरी होने से पूरे ठिठुरन बढ़ गई है। हवा का रुख उत्तरी और उत्तर-पूर्वी हो गया है। पश्चिमी विक्षोभ के असर से उत्तर भारत के पहाड़ों में बर्फबारी हुई है। इस वजह से वहां से आने वाली सर्द हवाओं ने पूरे प्रदेश में सिहरन बढ़ा दी है। अभी दो दिन तक हवा का रुख उत्तरी और उत्तर-पूर्वी बना रहने की संभावना है। इससे ठंड के तेवर दो दिन में और तीखे हो सकते हैं।

आगे कैसा रहेगा मौसम :

वर्तमान में एक पश्चिमी विक्षोभ अफगानिस्तान के पास बना हुआ है। इस सिस्टम के दो दिन बाद उत्तर भारत पहुंचने के आसार हैं। इसके बाद हवा का रुख बदलने से एक बार फिर बादल छाने लगेंगे और रात के तापमान में बढ़ोतरी होने लगेगी। इस सिस्टम के आगे बढ़ने के बाद एक बार फिर से ठंड के मिजाज बदलेंगे।

नवंबर में ठंड के बदलते तेवर :

राजधानी में नवंबर के शुरूआती 11 दिन ठंड़ ने तेवर दिखाए और रात का पारा 12 डिग्री तक पहुंच गया था । उसके बाद तापमान बढ़ने से 19 तारीख तक ठंड से राहत मिली। 20 नवंबर से पारा फिर घटने लगा। रात का तापमान चार दिन में 9 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया, जबकि दिन के तापमान में इस दौरान 6 डिग्री से डिग्री तक कम हो गया।

बीते सप्ताह ऐसी रही मौसम की चाल :

दिन अधिकतम तापमान न्यूनतम तापमान

  • 22 नवंबर 26.3 (-2) 10.5 (-4)

  • 21 नवंबर 25.0 (-4) 12.0 (-3)

  • 20 नवंबर 25.8 (-3) 16.8 (+2)

  • 19 नवंबर 31.3(+2) 19.4 (+5)

  • 18 नवंबर 32.9(+4) 18.6 (+4)

  • 17 नवंबर 31.5(+3) 18.6 (+4)

  • 16 नवंबर 32.4(+3) 17.7 (+3)

नोट: तापमान डिग्री सेल्सियस में हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co