Raj Express
www.rajexpress.co
मुख्यमंत्री कमल नाथ मिंटो हॉल में 'COMPIST' द्वारा आयोजित बिज़नेस डेवलपमेंट मीट में।
मुख्यमंत्री कमल नाथ मिंटो हॉल में 'COMPIST' द्वारा आयोजित बिज़नेस डेवलपमेंट मीट में। |Social Media
मध्य प्रदेश

व्यापार और उद्योगों के लिए गठित होगी कमेटी : मुख्यमंत्री कमल नाथ

मुख्यमंत्री बोले प्रदेश के व्यापार-व्यवसाय और छोटे उद्योगों का मध्यप्रदेश के विकास, अर्थ-व्यवस्था को मजबूत बनाने एवं आर्थिक गतिविधियाँ बढ़ाने में महत्वपूर्ण योगदान है।

Rishabh Jat

राज एक्सप्रेस। मुख्यमंत्री कमल नाथ ने मिंटो हाल में कान्फेडरेशन ऑफ एम.पी. फॉर इंडस्ट्रीज सर्विस एंड ट्रे़ड (कम्पिस्ट, 'COMPIST') समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि, मध्यप्रदेश के व्यापार, व्यवसाय और छोटे उद्योगों से जुड़ी समस्याओं के समाधान और सुझावों के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक कमेटी गठित होगी। यह कमेटी समय-समय पर व्यापारियों, व्यवसायियों के प्रतिनिधियों से संवाद कर समस्याओं का समाधान करेगी। उन्होंने कहा कि आज सबसे बड़ी आवश्यकता है कि हम देश-दुनिया और अपने आसपास हो रहे परिवर्तनों को पहचानें, तभी हम प्रगति कर सकते हैं।

कमल नाथ ने ऊबर और ओला कंपनी का उदाहरण देते हुए कहा कि

मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा कि, प्रदेश के व्यापार-व्यवसाय और छोटे उद्योगों का मध्यप्रदेश के विकास, अर्थ-व्यवस्था को मजबूत बनाने एवं आर्थिक गतिविधियाँ बढ़ाने में महत्वपूर्ण योगदान है। उनके बगैर हम प्रदेश के समग्र विकास की कल्पना नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि परिवर्तन को हम कैसे पहचानें और कैसे अपनाएं, यह हमारे सामने आज सबसे बड़ी चुनौती है। उन्होंने कहा कि, आज से बीस साल पहले जो बड़ी-बड़ी कंपनियां थीं, वो अब नहीं हैं क्योंकि उन्होंने बदलाव की बयार को नहीं पहचाना। वो कंपनियाँ जो समय के साथ आगे बढ़ीं, उन्होंने एक मुकाम हासिल किया। कमल नाथ ने ऊबर और ओला कंपनी का उदाहरण देते हुए कहा कि, कम समय में इन्होंने व्यापार-व्यवसाय के क्षेत्र में जो तरक्की की है, उसके पीछे मूल कारण था। इन्होंने परिवर्तन के दौर को पहचाना और सफलता पाई। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम शासन-प्रशासन को भी परिवर्तनों से जोड़ना चाहते हैं। इस दिशा में हमारे प्रयास जारी हैं। अगर हमने सरकार चलाने की कार्य-प्रक्रिया में बदलाव नहीं किया तो विकास के मामले में हम पिछड़ जाएंगे।