ग्वालियर : कांग्रेस ने फिर लगाया सिंधिया पर जमीन घोटाले का आरोप

ग्वालियर, मध्य प्रदेश : कांग्रेस ने मंगलवार को एक बार फिर पत्रकारवार्ता बुलाकर सिंधिया पर 500 करोड़ की जमीन पर कब्जा करने एवं बेंचने का आरोप लगाया है।
ग्वालियर : कांग्रेस ने फिर लगाया सिंधिया पर जमीन घोटाले का आरोप
के के मिश्रा का आरोपSocial Media

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। उप चुनाव को लेकर कई रणनीति के तहत काम कर रही है। इसके तहत एक टीम को सिर्फ सिंधिया की जमीन घोटालों की पड़ताल कर उनका खुलासा करने के लिए लगाया गया है तो दूसरी टीम सोशल मीडिया पर सिंधिया के खिलाफ आवाज बुलंद करने में लगी हुई है। कांग्रेस ने मंगलवार को एक बार फिर पत्रकारवार्ता बुलाकर सिंधिया पर 500 करोड़ की जमीन पर कब्जा करने एवं बेंचने का आरोप लगाया है।

प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष मुरारीलाल दुबे एवं मीडिया प्रमुख (ग्वालियर-चम्बल संभाग) केके मिश्रा ने पत्रकारावार्ता में सिंधिया परिवार को भू-माफिया बताते हुए कहा कि इस परिवार ने कोटेश्वर बाग, कोटेश्वर, भूतेश्वर देवस्थल और सर्वे क्रमांक-15 की सरकारी भूमि पर कब्जे कर उसे अनाधिकृत रूप से बेंच दिया। दुबे-मिश्रा ने अपने आरोपों में कहा कोटेश्वर बाग की भूमि संस्थान द्वारा रजिस्टर्ड विक्रय पत्र दिनांक-24.09.2004 के आधार पर सिंधिया देवस्थान ट्रस्ट के स्थान पर नामांतरण कर दिया गया। सन् 1997 के बंदोबस्त रिकॉर्ड में उक्त खसरा भूमि शासकीय रिकॉर्ड में दर्ज होकर वर्तमान खसरे में कोटेश्वर महादेव, औकाफ विभाग ऑनर, कलेक्टर ग्वालियर के नाम पर अंकित है। इस रिकॉर्ड के आगे कैस पैडिंग ऑफ सीलिंग भी दर्ज है।

कलेक्टर ग्वालियर ने 28 दिसंबर 2009 को अपने एक आदेश में उक्त भूमि को हाईकोर्ट और तहसीलदार के पारित आदेश का हवाला देते हुए कोटेश्वर बाग के स्थान पर रिकॉर्ड में सिंधिया देवस्थान ट्रस्ट चढ़ा दिया गया। इसके पश्चात नजूल अधिकारी जिला ग्वालियर ने पत्र क्र.-क्यू/न.अ/1165/2010-11/बी-121 दिनांक-21.04.2011 के आधारा पर प्रश्नाधीन भूमि देवस्थान ट्रस्ट के बजाय केशवानन्द गृह निर्माण समिति द्वारा अध्यक्ष अजय पिता गोपालदास खंडेलवाल के नाम का नामांतरण स्वीकार कर भू-स्वामी के रूप में अंकित कर दिया गया।

इसी प्रकार भूतेश्वर संस्थान 1997 के बंदोबस्त रिकॉर्ड के अनुसार लगभग 6 बीघा भूमि शासकीय रिकॉर्ड में दर्ज है। मंदिर की भूमि लाखों-करोड़ों रूपयों में बेचने का अधिकार सिंधिया परिवार को किसने दिया? देवस्थान की यह भूमि किसके निर्देश पर बेची गई और इससे प्राप्त आय का इन देवस्थलों के जीर्णोधार में कितना उपयोग किया गया? यह सवाल कांग्रेस नेताओं ने पूछे है। इस तरह कांग्रेस नेता मुरारीलाल दुबे लगातार सिंधिया परिवार पर जमीन घोटाले को लेकर आरोप लगा रहे है, लेकिन उनके इन आरोपों पर अभी तक दूसरी तरफ से कोई जवाब नहीं आया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co