इंदौर : कांग्रेस ने संबल योजना के नाम पर चल रहे फर्जीवाड़े को बंद किया

इंदौर, मध्य प्रदेश : कांग्रेस ने कभी संबल योजना बंद नहीं की, जो फर्जीवाड़ा चल रहा था बंद किया - कमलनाथ
इंदौर : कांग्रेस ने संबल योजना के नाम पर चल रहे फर्जीवाड़े को बंद किया
कांग्रेस ने संबल योजना के नाम पर चल रहे फर्जीवाड़े को बंद कियाSocial Media

इंदौर, मध्य प्रदेश। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के संबल योजना को लेकर कहे गए झूठ पर पलटवार करते हुए कहा कि शिवराज जी हमने कभी गरीबों की संबल योजना बंद नहीं की, हमने तो सिर्फ आपकी सरकार में इस योजना में गरीबों के नाम पर किया गया फर्जीवाड़ा बंद किया। गरीबों का वह हिस्सा जिसका लाभ गरीबों को मिलना था, उसे नहीं मिलते हुए भाजपा कार्यकर्ताओं को व भाजपा से जुड़े अपात्र लोगों को मिल रहा था, उस गंदगी को हमने जरूर साफ और बंद किया।

कांग्रेस के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा द्वारा जारी बयान में कहा गया कि हमने उसे एक नए रूप में नया सवेरा के नाम से प्रारंभ किया। कहने को तो यह योजना गरीबों के लिए प्रारंभ की गई थी लेकिन इसका फायदा कई भाजपा से जुड़े हुए अपात्र लोगों को दिया जा रहा था, गरीबों के हिस्से को फर्जीवाड़ा कर डकार आ जा रहा था। हमने सर्वे कर उसमें से अपात्र लोगों की छटनी कर वास्तविक पात्र गऱीबों को उसका लाभ प्रदान किया।

पूर्व मुख्यमंत्री नाथ ने कहा कि शिवराज जी को झूठ बोलने की बड़ी आदत है, खंडवा और इंदौर जिले में अपने कार्यक्रमों में संबल योजना को लेकर, किसान बीमा योजना को लेकर, कन्या विवाह राशि को लेकर झूठ परोसते रहे। अभी तक जिस किसान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का शिवराज सिंह जोर-जोर से ढिंढोरा पीट श्रेय ले रहे थे, अब जब उस योजना में किसानों को एक रुपये - दो रुपये क्लेम की राशि मिली, किसानों का आक्रोश सामने आया तो नया झूठ परोसा कि इस योजना का सर्वे कमलनाथ सरकार में हुआ। शिवराज कितना झूठ बोलते हैं, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है। उन्होनें कहा कि हमेशा की तरह तरह आज भी शिवराज जी की जेब में नारियल और हाथों में झूठी घोषणाओं का पर्चा था। एक-एक करके झूठी घोषणाएं वे करते जा रहे थे, जो कभी पूरी नहीं होगी। जनता जानती है कि जिनके 15 वर्ष के परमानेंट शासनकाल में की गई घोषणाए अभी तक पूरी नहीं हुई तो इन टेंपरेरी मुख्यमंत्री की इन घोषणाओं का क्या हश्र होगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co