कांग्रेस 'बी' टीम को आगे कर माहौल बिगाड़ने का कर रही है प्रयास : विष्णुदत्त
कांग्रेस 'बी' टीम को आगे कर माहौल बिगाड़ने का कर रही है प्रयासSocial Media

कांग्रेस 'बी' टीम को आगे कर माहौल बिगाड़ने का कर रही है प्रयास : विष्णुदत्त

भोपाल, मध्यप्रदेश : ओबीसी महासभा के आंदोलन के परिप्रेक्ष्य में चल रही राजनीति और बयानबाजी के बीच श्री शर्मा ने एक बयान में कहा कि कांग्रेस का ओबीसी विरोधी चेहरा एक बार नहीं अनेक बार सामने आ चुका है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की मध्यप्रदेश इकाई के अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने आज कहा कि अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) को लेकर कांग्रेस बेनकाब हो चुकी है और वह अपनी 'बी' टीम को आगे कर माहौल बिगाड़ने का प्रयास कर रही है।

ओबीसी महासभा के आंदोलन के परिप्रेक्ष्य में चल रही राजनीति और बयानबाजी के बीच श्री शर्मा ने एक बयान में कहा कि कांग्रेस का ओबीसी विरोधी चेहरा एक बार नहीं अनेक बार सामने आ चुका है। चाहे ओबीसी को 27 प्रतिशत आरक्षण मुहैया कराना हो या पंचायत चुनावों में ओबीसी आरक्षण का मुद्दा हो। राज्य की जनता और ओबीसी के लोग जान चुके हैं कि कांग्रेस की दिलचस्पी सिर्फ उनका राजनैतिक इस्तेमाल में है।

श्री शर्मा ने कहा कि चूंकि कांग्रेस बेनकाब हो चुकी है, इसलिए वह अपनी 'बी' टीम को आगे कर राज्य में माहौल बिगाड़ना चाहती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने मध्यप्रदेश में विद्वेष और अशांति फैलाने के लिए अपनी जिस टीम को चुना है, वह इसकी विशेषज्ञ है और वो कई प्रदेशों में माहौल खराब कर चुकी है। इस टीम को सिर्फ भाजपा शासित राज्यों में ही दलितों, पिछड़ों की समस्याएं दिखाई देती हैं, अन्य राज्यों से उसे कोई मतलब नहीं रहता।

श्री शर्मा ने कहा कि राजस्थान और महाराष्ट्र जैसे राज्यों में दलितों के प्रति हो रहे जघन्य अपराध कांग्रेस या उसकी बी टीम के किसी नेता को नजर नहीं आते हैं। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश के सागर में पूर्ववर्ती कमलनाथ सरकार के कार्यकाल में जब दलित धनप्रसाद को जिंदा जला दिया गया था, तब भी भीम आर्मी या उसका कोई नेता उसकी सुध लेने नहीं आया। और अब इसी टीम के नेता खुद को पिछड़ा वर्ग का सबसे बड़ा हमदर्द बता रहे हैं।

श्री शर्मा ने कहा कि कांग्रेस के पास पिछड़ा वर्ग के लोगों को बताने के लिए कोई उपलब्धि नहीं है, इसलिए वह अब नकारात्मक राजनीति करके इस वर्ग के भाइयों को भड़काना चाहती है। कांग्रेस ने पिछड़ा वर्ग के लोगों के लिए 27 प्रतिशत आरक्षण की घोषणा कर दी, लेकिन जब मामला अदालत में पहुंचा, तो कांग्रेस की सरकार ने अपने महाधिवक्ता को पक्ष रखने ही नहीं भेजा। इसी तरह उसने पंचायत चुनाव में ओबीसी आरक्षण को लेकर भी किया।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि मध्यप्रदेश की भाजपा सरकार प्रदेश के सौहार्दपूर्ण वातावरण को बिगाड़ने की अनुमति किसी को भी नहीं देगी और कांग्रेस तथा उसकी बी टीम के प्रयासों को किसी भी कीमत पर सफल नहीं होने दिया जाएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co