ग्वालियर : कांग्रेस के मीडिया विभाग सिर्फ ट्वीटर व फेसबुक पर सक्रिय

ग्वालियर, मध्य प्रदेश : कांग्रेस सिर्फ फेसबुक व ट्वीटर पर सिर्फ और सिर्फ सिंधिया को टारगेट कर रहा है और अंचल में कांग्रेस के क्या कार्यक्रम हो रहे है, उससे उनको कोई लेना देना नहीं है।
ग्वालियर : कांग्रेस के मीडिया विभाग सिर्फ ट्वीटर व फेसबुक पर सक्रिय
कांग्रेस के मीडिया विभाग सिर्फ ट्वीटर व फैसबुक पर सक्रियSocial Media

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। मीडिया विभाग की अगर बात करें तो भाजपा इस समय कांग्रेस से मीलों आगे चल रही है और अंचलभर में जो भी भाजपा के कार्यक्रम हो रहे हैं उसकी जानकारी मीडिया विभाग पत्रकारों तक पहुंचाने में लगा हुआ है। वहीं अगर कांग्रेस की बात करें तो वह सिर्फ फेसबुक व ट्वीटर पर सिर्फ और सिर्फ सिंधिया को टारगेट कर रहा है और अंचल में कांग्रेस के क्या कार्यक्रम हो रहे है, उससे उनको कोई लेना देना नहीं है। अब कमलनाथ ने तो अंचल में कांग्रेस के कार्यक्रमों की जानकारी अधिक से अधिक पत्रकारों के पास पहुंचे इसके लिए वॉर रूम बनाया था और उसमें प्रदेश स्तर के मीडिया विभाग के वरिष्ठ नेता को तैनात किया गया था।

उप चुनाव को लेकर कांग्रेस इसे अपनी प्रतिष्ठा की लड़ाई मान कर चल रही है और इसके लिए उन्होंने कई स्लोगन भी जारी किए थे, जिसके आधार पर कांग्रेस छोड़कर भाजपा में गए लोगों को घेरने का काम किया जा रहा है। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने बिकाई नहीं टिकाऊ चाहिए इसको लेकर अपना कैंपेन शुरू किया और यह बात आम जनता तक पहुंचे इसके प्रसार-प्रचार की जिम्मेदारी अपने मीडिया विभाग को सौंप रखी है। मीडिया विभाग के जरिए कमलनाथ काम तो तीखा करना चाहते थे और इसके लिए उन्होंने ग्वालियर में वॉर रूम भी खोल रखा है, जिसमें कई ऐसे कांग्रेस मीडिया विभाग के लोग तैनात किए हुए है जिनकी जिम्मेदारी है कि वह अंचल में कांग्रेस नेताओं के होने वाले कार्यक्रम एवं सभाओ की जानकारी इलेक्ट्रोनिक व प्रिंट मीडिया तक पहुंचाएं, लेकिन कार्यक्रम क्या हुआ उसकी जानकारी तो दूर यह भी नहीं बताया जाता कि कौन नेता कहां आ रहा है और क्या कार्यक्रम है। कांग्रेस के मीडिया विभाग की हालत यह है कि उन्होंने अभी तक सिर्फ सिंधिया को टारगेट बनाते हुए उनके बारे में ही फैसबुक व ट्वीटर पर जानकारी देकर अपनी वाहवाही करने में लगे हुए है। कांग्रेस के मीडिया विभाग ने अभी तक सिर्फ जो प्रेस कॉन्फ्रेंस कराई उसमें मुख्य विषय सिंधिया की जमीन मामले को लेकर ही था। अब अगर भाजपा की बात करें तो उसका मीडिया विभाग खासा सक्रिय होकर अपनी बात आमजन तक पहुंचाने में लगा हुआ है। अब दोनों के मीडिया विभाग में से कौन आगे रहता है इसका पता तो मतगणन के बाद ही लगेगा, लेकिन राजनीतिक नजरिए से देखे तो इस मीडिया विभाग के मामले में भाजपा फिलहाल कांग्रेस से काफी आगे दिख रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co