कांग्रेसी विधायकों की वापसी के लिए उड़ा इंडिगो
कांग्रेसी विधायकों की वापसी के लिए उड़ा इंडिगो|Social Media
मध्य प्रदेश

MP सियासत: कांग्रेसी विधायकों की वापसी के लिए उड़ा इंडिगो

मध्यप्रदेश कांग्रेस के विधायकों की होगी घर वापसी, इंडिगो एयरलाइन्स की स्पेशल फ्लाइट से आएंगे राजाभोज एयरपोर्ट...

Priyanka Yadav

Priyanka Yadav

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश में राजनीतिक उठापटक के बीच राज्यपाल लालजी टंडन द्वारा मुख्यमंत्री कमलनाथ को पत्र लिखकर सोमवार को बजट सत्र के पहले ही दिन अभिभाषण के बाद बहुमत साबित करने के निर्देश देने के बाद आज राजनैतिक गतिविधियां और बढ़ती हुयी नजर आयीं। कांग्रेस नेताओं का कहना है कि उसके जयपुर के पास रुके लगभग 90 विधायक आज कुछ ही घंटों में विमान से भोपाल पहुंच जाएंगे। इसके अलावा कमलनाथ मंत्रिमंडल की बैठक आज दिन में होगी, जिसमें मुख्य रूप से मौजूदा राजनैतिक हालातों के अलावा कल से प्रारंभ हो रहे विधानसभा के बजट सत्र से जुड़े बिंदुओं पर चर्चा की जाएगी।

इस बीच राज्य के मंत्री PC शर्मा ने मीडिया से कहा :

कल यानी सोमवार से बजट सत्र शुरू हो रहा है। यह विधानसभा अध्यक्ष पर निर्भर करता है कि वे सदन की कार्यवाही में कौन सा विषय कब लेंगे। साथ ही उन्होंने दावा किया कि, राज्य की कांग्रेस सरकार अल्पमत में नहीं है।

उन्होंने यह आरोप भी दोहराया कि- भाजपा ने कांग्रेस के विधायकों को बेंगलुरु में बंधक बनाया हुआ है। इसके पहले विधानसभा अध्यक्ष एन पी प्रजापति ने कांग्रेस के इस्तीफा देने वाले 22 विधायकों में से छह विधायकों के त्यागपत्र स्वीकार कर लिए। इसकी घोषणा उन्होंने कल शाम की। वहीं विधानसभा में विपक्ष के नेता गोपाल भार्गव ने त्यागपत्र स्वीकार करने के तरीके पर सवाल उठाए और कहा कि 22 में से सिर्फ छह विधायकों के ही त्यागपत्र स्वीकार क्यों किए गए। शेष विधायकों के त्यागपत्र भी स्वीकार होने चाहिए।

दूसरी ओर भाजपा नेताओं का कहना है-

कांग्रेस सरकार अल्पमत में है और उसे बजट सत्र के पहले ही बहुमत साबित करना चाहिए। इस मांग को लेकर भाजपा के पांच नेता कल अपराह्न पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में राज्यपाल से मिले और एक ज्ञापन सौंपा। इसके बाद देर रात राज्यपाल ने मुख्मयंत्री को पत्र लिखकर निर्देश दिए कि, बजट सत्र के पहले ही दिन सोमवार को उनके (राज्यपाल के) अभिभाषण के तत्काल बाद सरकार बहुमत सिद्ध करे।

बहुमत साबित करने की प्रक्रिया स्थगित नहीं की जाना चाहिए। बताया गया है कि इस पत्र के बाद कांग्रेस के शीर्ष नेता अपना अगला कदम उठाने के लिए रणनीति पर चर्चा कर रहे हैं। इस संबंध में मुख्यमंत्री कमलनाथ की पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और अन्य नेताओं से चर्चा करने की खबरें भी हैं।

राज्यपाल ने साफ तौर पर लिखा-

समाचार अपडेट

कांग्रेस विधायक एयरपोर्ट से भोपाल पहुंचे, यहां से सारे विधायक सीएम हाउस जाएंगे और फिर होटल मैरियट में उन्हें ठहराया जाएगा, एयरपोर्ट पर विधायकों को लाने के लिए बस से लगाई गई है राजाभोज एयरपोर्ट पर धारा 144 लागू कर दी गई थी, साथ ही साथ एयरपोर्ट पर सुरक्षा इतनी कड़ी कर दी गई थी। जयपुर में रखे गए कांग्रेस के विधायकों आज यानि रविवार को भोपाल आ गए।

मुख्यमंत्री कमलनाथ अपने वरिष्ठ नेताओं और मंत्रियों के साथ अपनी रणनीति में जुटे हुए हैं। कुछ ही देर में कैबिनेट की बैठक भी होने वाली है। कांग्रेस अपने विधायकों के लिए व्हिप कल शाम को ही जारी कर चुकी है। मध्यप्रदेश में चल रही राजनीतिक उथलपुथल के बीच कांग्रेस के विधायकों को लगभग चार पांच दिन पहले विशेष विमान से भोपाल से जयपुर भेजा गया था। कल से शुरू होने वाले महत्वपूर्ण बजट सत्र के मद्देनजर कांग्रेस विधायकों को यहां लाया गया है। हालाकि कांग्रेस छोड़कर भाजपा में जा चुके ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक लगभग 20 विधायक और नेता अभी बेंगलुरु में ही हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co