नेता दिया इस्तीफा
नेता दिया इस्तीफा|Social Media
मध्य प्रदेश

हॉर्स ट्रेडिंग: अपनी ही सरकार से भिड़े एक और नेता, दिया इस्तीफा

भोपाल, मध्यप्रदेश: प्रदेश में जहां हॉर्स ट्रे़डिंग मामले से नए बवाल आना शुरू हुए, इस बीच कांग्रेस विधायक डंग के इस्तीफे से क्या बढ़ेगी सरकार की मुश्किलें।

Deepika Pal

Deepika Pal

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश की राजनीति में हॉर्स ट्रेडिंग मसले के बाद से सियासी उठापटक में आए दिन नए-नए मोड़ सामने आते जा रहे हैं बीते दिनों के महाड्रामे के बाद कांग्रेस विधायक हरदीप सिंह डंग ने विधानसभा से इस्तीफा दे दिया। इस खबर के साथ ही कमलनाथ सरकार को जहां झटका लगा है वहीं राजनीति में हड़कंप भी मच गया। बीते दिन पूर्व ही कांग्रेस विधायक डंग का नाम लापता विधायकों की सूची में सामने आ रहा था। वहीं विधायक ने इस्तीफे के साथ ही एक पत्र भी सरकार के नाम लिखा है।

काम करने के लिए तैयार नहीं मंत्री- कांग्रेस विधायक डंग

इस संबंध में सुवासरा विधानसभा क्षेत्र के विधायक हरदीप सिंह डंग ने विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति को अपना इस्तीफा भेजा दिया है जिसमें विधायक डंग का कहना है कि,दूसरी बार लोगों का जनादेश मिलने के बावजूद पार्टी द्वारा उनकी लगातार अनदेखी की जा रही है, उन्होंने अपने पत्र में कहा कि 'कोई भी मंत्री काम करने के लिए तैयार नहीं है, क्योंकि वे एक भ्रष्ट सरकार का हिस्सा हैं। वहीं विधायक द्वारा जारी किए गए पत्र में लिखा कि, वह बातें उनके ही क्षेत्र की नहीं, बल्कि मध्यप्रदेश के उन सभी विधायकों की आवाज है जिनका कोई सरपरस्त नहीं है जिनका कोई आका नहीं है, उन सभी विधायकों की आवाज है वो पत्र।

मुझे विधायक के इस्तीफे की मिली है खबर: विधानसभा अध्यक्ष प्रजापति

इस संबंध में विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति ने कहा, मुझे हरदीप सिंह डंग के इस्तीफे की खबर मिली है। उन्होंने मुझे व्यक्तिगत रूप से अपना इस्तीफा नहीं दिया है। जब वह अपना इस्तीफा मुझे सौंपेंगे, तो मैं इसे नियमानुसार मानूंगा और आवश्यक कार्रवाई करूंगा।

नेता प्रतिपक्ष भार्गव ने दिए बयान

इस संबंध में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने विधायक डंग के इस्तीफे पर कहा, यह इस्तीफा सिर्फ श्री डंग जी का नहीं है। यह सत्तारूढ़ दल के विधायकों की आवाज है उनकी व्यथा है उनका पत्र पढ़कर मुझे दुःख हुआ कि, सत्तारूढ़ दल के विधायकों के साथ ऐसा सुलूक हो रहा है कि उसके क्षेत्र का कोई काम नहीं हो रहा है। उनकी सुनी नहीं जा रही। लगातार अवसरवादी लोगों को प्रश्रय दिया जा रहा है। ऐसे लोग मलाई काट रहे हैं लेकिन निष्ठावान विधायकों को कोई नहीं पूछ रहा है। वहीं इसमें मन्दसौर कांग्रेस जिलाध्यक्ष राघवेंद्र सिंह ने दावा करते हुए कहा, फ़र्ज़ी हस्ताक्षर कर चिट्ठी भेजी गई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co