180 लाख रूपये से 23 चैक डैमों का निर्माण कार्य प्रारंभ
180 लाख रूपये से 23 चैक डैमों का निर्माण कार्य प्रारंभ|Raj Express
मध्य प्रदेश

नागदा जं.: 180 लाख रूपये से 23 चैक डैमों का निर्माण कार्य प्रारंभ

नागदा जं., मध्य प्रदेश। 05 करोड़ की राशि से अब पंचायत क्षैत्रो में पक्की सड़कें, नालियां, सिचाईं हेतु छोटी जल संरचनायें आदि कार्य प्रारंभ हो सकेंगे एवं स्थानीय ग्रामीणों को रोजगार भी मिलेगा - शेखावत

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

नागदा जं., मध्य प्रदेश। विधानसभा क्षैत्र का ग्रामीण क्षैत्र जो विकास कार्य के लिये पिछले 16 माह से तरस गया था। किन्तु अब विधानसभा के 22 गांवो मे 23 चैक डेम निर्माण मनरेगा योजना से हो रहे हैं। यह बात पूर्व विधायक दिलीपसिंह शेखावत ने शनिवार को विशेष चर्चा में कहीं। उन्होंने कहा कि ग्राम भिलसुड़ा मे 9.41 लाख, मालाखेड़ी 9.97 लाख, बंजारी 8.73 लाख, लेकोडिय़ा टांक मे 1.0 लाख, रजला मे 14.68 लाख, पिपलोदा पंथ मे 10.91 लाख, संदला मे 7.67 लाख, पाड़सूतिया मे 1.04 लाख, दुपड़ावदा मे 7.16 लाख, लूसड़ावन मे 7.26 लाख, मड़ावदा मे 12.28 लाख, चांपाखेड़ा मे 6.03 लाख, चांपानेर मे 8.62 लाख, दिवेल मे 9.68 लाख, गिंदवानीया मे 11.90 लाख, झिरमीरा मे 6.10 लाख, बैहलोला मे 6.14 लाख, भुवासा मे 11.24 लाख, बोढ़दिया मे 7.31 लाख, कनवास मे 7.71 लाख, नंदवासला मे 6.14 लाख, थड़ोदा मे 9.23 लाख, इस प्रकार 22 ग्रामों में कुल 23 चैक डेमो का निर्माण कार्य प्रारंभ हो चुका है। इन चैक डेमो के बन जाने से ग्रामीण क्षैत्रो का वाटर लेवल बड़ेगा। साथ ही मवेषीयों के पीने के पानी की व्यवस्था भी होगी। जिससे सेकड़ो बीघा की खेती मे सिचाई होगी। शेखावत ने बताया की वाटर लेवल बढ़ता है तो सिचाई का रकबा भी बढ़ता है और सिचाई का रकबा बढ़ने के कारण किसान आर्थिक रूप से सक्षम होता है।

विधानसभा क्षेत्र में डेम का निर्माण :

विधानसभा मे गिरते वाटर लेवल को देखते हुए मैंने अपने पिछले कार्यकाल मे सबसे ज्यादा ध्यान वाटर लेवल बढ़ाने पर ही दिया था। जिसका ही परिणाम था की मात्र 05 वर्शो मे ही 31 करोड़ रूपये की लागत से गौठड़ा माता जी के नीचे मलेनी नदी पर डेम निर्माण नाथूखेड़ी मलेनी नदी पर डेम निर्माण मलेनी कुड़ेल नदी के संगम पर डेम निर्माण श्रीवच्छ नाले पर डेम निर्माण भैंसोला मे छोटा डेम निर्माण, मोकड़ी राजगढ़ चंबल नदी पर डेम निर्माण, बागेड़ी नदी पर भिकमपूर एवं पाड़सूतिया मे डेम निर्माण, बागेड़ी ग्राम मे डेम निर्माण, वांचाखेड़ी मे तालाब निर्माण एवं उसकी मरम्मत की स्वीकृति कराई साथ ही अंतलवासा, बनबना, सीपरड़ा एवं बुरानाबाद के तालाबो की जिर्णोधार कराया जिससे क्षैत्र की 10 हजार हेक्टेयर भूमि सिंचित हुई है। बागेड़ी नदी पर पाड़सूतिया पर नवीन डेम एवं बागेड़ी नदी पर बागेड़ी गांव के पास नवीन डेम वाचाखेड़ी तालाब व नंदवासला तालाब इस साल पानी से भर जायेगे एवं बागेड़ी नदी पर डेमो का निर्माण होगा एवं भविश्य मे बोरदिया के पास मलेनी नदी पर भी डेम बनेंगे।

16 माह में सिंचाई के क्षैत्र मे एक भी सौगात नहीं :

पिछली कांग्रेस सरकार के 16 माह मे सिंचाई के क्षैत्र मे एक भी सौगात नहीं मिली थी। शेखावत ने यह भी बताया की विगत वर्षो मे ग्रामीण क्षैत्र मे विकास के कोई भी कार्य नहीं हुये यहां तक की विधायक जी द्वारा अपनी विधायक निधी भी खर्च नहीं कर पाये। जिससे ग्रामीण क्षैत्र में विकास ठप्प सा हो गया था। किन्तु वर्तमान मे माननीय शिवराजसिंह जी द्वारा ग्रामीण क्षैत्रों मे विकास को गती देने हेतु 14वां वित्त आयोग मे अप्रेल एवं जून मे लगभग 05 करोड़ की राशि पंचायतो के खातों में जमा हुई है। जिससे ग्रामीण क्षैत्रो मे पक्की सड़के, नालीयां, सिचाईं हेतु छोटी जल संरचनायें आदि कार्य प्रारंभ हो सकेंगे एवं साथ ही स्थानीय ग्रामीणों को रोजगार भी मिलेगा।

पहली प्राथमिकता जलस्तर बढ़ाने की रहेगी :

शेखावत ने बताया की क्षैत्र मे मेरी पहली प्राथमिकता जलस्तर बढ़ाने की रहेगी। जिसके लिये जल संसाधन मंत्री से मिलकर पत्र के माध्यम से अपनी मांगे रखूगा। जिसमे छोटे डेम, छोटे तालाब, बड़े डेम प्रमुख रूप से रहेगे ताकि भविष्य मे जल स्तर को बढ़ाया जा सके। शेखावत ने बताया की मेरे पिछले कार्यकाल मे मेरी विधानसभा के ग्रामो मे मेरे प्रयासों से 288 करोड़ रूपये के विकास का कराये गये थे। जिसमे प्रमुख रूप से ग्रामीण क्षैत्रो की 90 सड़के लागत 160 करोड़ 65 गांवो मे सामुदायिक भवन लागत 06 करोड़, 10 नये डेम निर्माण लागत 31 करोड़, नवीन हाई स्कुल भवन लागत 09 करोड़ रू. मा. थावरचंद जी गेहलोत द्वारा 14 ग्रामो को आर्दश ग्राम बना कर 20 - 20 लाख कुल 2.80 करोड़ के विकास कार्य। 43 करोड़ की लागत से ग्रामीण क्षैत्रो मे नलजल योजना की सौगात जिसमे 22 ग्रामो की शुद्ध पेयजल योजना और पंचायतो के माध्यम से सीमेंट कांक्रीट रोड़ आदिमजाति से नवीन बस्तीयों मे सिमेंट कांक्रीट रोड़, नालियां, शौचालय आदि का निर्माण कार्य कराया गया था। प्रधानमंत्री आवास के कार्यो को भी गति मिले यह प्राथमिकता होगी साथ ही किसानों को खेतों पर जाने के लिये 40 खेत सड़कों का प्रस्ताव मनरेगा योजना मे भेजा था जिसमे राशि 135 लाख से 11 खेत सड़के स्वीकृत हो चुकी है। जिसमे सेकड़ी सूलतानपूर, उचाहेड़ा, नंदयासी, नरसिंहगढ़, थड़ोदा, भीलसूड़ा आदि सड़के बनेगी। आगे भी पंचायतों में अब धन की कमी नहीं होने देगे एवं विकास कार्य तीव्रगती से चलेंगे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co