विद्युत विभाग द्वारा रखरखाव
विद्युत विभाग द्वारा रखरखाव|सांकेतिक चित्र
मध्य प्रदेश

पिपरिया: लॉक डाउन के बाद आए बिलों से उपभोक्ता हो रहे परेशान

पिपरिया, मध्य प्रदेश: विद्युत विभाग द्वारा रखरखाव के नाम पर की गई निरन्तर कटौती फिर भी थोड़ी ही बारिश में निरन्तर विद्युत प्रदाय हो रहा बंद।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

पिपरिया, मध्य प्रदेश। पिपरिया क्षेत्र में गर्मी के मौसम में रखरखाब के नाम पर निरन्तर विद्युत कटौती की गई, परंतु थोड़ी ही बारिश ने रखरखाब की पूरी पोल खोल दी। निरन्तर एवम बनखेड़ी सहित दर्जनों गावोंं में इन दिनों लगातार बिजली सप्लाई गुल होने से कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। वहींं बनखेड़ी क्षेत्र में तो हालात सोच से परे है। आए दिन बिजली कटौती से मूलनिवासी तहसील स्तर उपखण्ड कार्यालय पुलिस थाना व इलेक्ट्रॉनिक कार्य फोटोकॉपी सभी के लिए ग्रामीणों को निरंतर परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

ग्रामीणों ने बताया कि विद्युत विभाग द्वारा उमस भरी गर्मी में आए दिन रखरखाव के नाम दिन भर बिजली कटौती की गई तथा कभी तो बिना सूचना के ही दिन में घण्टोंं बिजली गुल रही तब ग्रामीण जैसे तैसे अपने काम निपटाते हैं ये सोच कर की निगम के कर्मचारी बिजली कटौती के दौरान रखरखाव व बिजली के तारोंं को व्यवस्थित कर रहे होंगे लेकिन बिजली कटौती के बाद भी इन दिनों कई जगह बिजली के तार जमीन पर झूल रहे हैंं तो कई ग्रामीण क्षेत्र में बिजली के तार पेड़ोंं की टहनियोंं में उलझेे हुए हैंं। जो खतरे से खाली नहींं है। इन दिनों चल रही हवाओंं से पेड़ोंं के तारों को छूने से आए दिन बिजली लाइन में फाल्ट हो जाते हैंं और बिजली गुल हो जाती है कभी पूरी रात बिजली नहींं आती तो कभी दिन भर बिजली गुल रहती है जिससे क्षेत्रवासियोंं को काफी हद तक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। क्षेत्र के सरकारी कार्यालयों में भी बिजली नहींं होने से कामकाज बिल्कुल ठप रहते हैंं वही मानसून आ ही गया है बारिश का दौर शुरू हो जाएगा ऐसे में अगर विद्युत विभाग की व्यवस्था के यही हाल रहे तो बारिश के समय मे गम्भीर समस्याओं का सामना करना पड़ेगा।

प्राइवेट ठेकेदारो ने सस्ते ओर गुणवत्ताहीन सामग्री का किया उपयोग :

वहीं देखा गया है कि विद्युत विभाग द्वारा प्राइवेट ठेकेदारों से लाखों के काम कराए जा रहे है वही इन कामो में बड़ी मिलीभगत से उच्च दामो पर गुणवत्ताहीन समान का ऊपयोग किया जाता है जो ज्यादा समय तक नहींं चल पाते। इससे कहीं लाइन टूटती है तो कभी डीपी जलती है तो कभी इंसुलेटर टूट जाते है जिससे विद्युत लाइन बंद होती है यदि ठेकेदारों द्वारा किये गए कार्यो की जांच कराई जाए तो बहुत सी अनिमित्ताये सामने आएंगी।

विद्युत बिलो में मुख्यमंत्री के आदेशों का नहींं हो रहा पालन :

वही लॉक डाउन के बाद आये विद्युत बिलो में मुख्यमंत्री के आदेशों का पालन भी नहींं किया जा रहा। कई उपभोक्ताओं के बिलो में तो आधे बिल की छूट मिली है और कई उपभोक्ताओं को इसका लाभ नहींं दिया गया। उपभोक्ता विद्युत मंडल आफिस के चक्कर लगा-लगा कर परेशान हैं।

इनका कहना है :

विद्युत विभाग द्वारा लाइन मेन्टेन्स का कार्य किया गया, वही बहुत तेज हवा एवम बारिश के कारण कहीं-कहीं खंबे एवम विद्युत लाइन टूट गई जिनमे सुधार कार्य करने के दौरान विद्युत प्रदाय कुछ समय के लिए बंद की जाती है हम निरंतर कोशिश करते हैं कि विद्युत प्रदाय निरंतर 24 घंटे उपभोक्ता को उपलब्ध हो। वहीं यदि विद्युत कार्यों में किसी ठेकेदार द्वारा गुणवत्ता की सामग्री का उपयोग नहींं किया गया है और इसके संबंध में कोई शिकायत प्राप्त होती है तो निश्चित ही उसकी जांच करा कर ठेकेदार के ऊपर कार्यवाही की जाएगी।

पूनम तुमराम, डी. ई., मध्य क्षेत्र विधुत वितरण कंपनी, पिपरिया

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co