कांग्रेस सरकार बनने पर संविदा कर्मचारियों व रोजगार सहायकों को करेंगे नियमित

प्रदेश में उपचुनाव के मतदान से पहले पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने वोटरों को साधने बड़ा दांव चला है। कमलनाथ ने संविदा कर्मचारी, रोजगार सहायक और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को लेकर बड़ा ऐलान किया है।
कांग्रेस सरकार बनने पर संविदा कर्मचारियों व रोजगार सहायकों को करेंगे नियमित
कमलनाथ ने वोटरों को साधने चला बड़ा दांव Social Media

भोपाल, मध्य प्रदेश। प्रदेश में उपचुनाव के मतदान से पहले पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने वोटरों को साधने बड़ा दांव चला है। कमलनाथ ने संविदा कर्मचारी, रोजगार सहायक और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को लेकर बड़ा ऐलान किया है। कमलनाथ ने इन तीनों को मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनते ही रेगुलर किया जाएगा। प्रचार के आखिरी दौर में कमलनाथ ने यह बड़ा मास्टर स्ट्रोक चलकर भाजपा खेमे में खलबली मचा दी है, हालांकि यह कितना कारगार साबित होगा ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा।

कमलनाथ ने ट्वीट कर लिखा है कि कांग्रेस सरकार बनने पर हम आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, सहायिकाओं और आशा कार्यकर्ताओं को स्थायी कर्मचारी घोषित करते हुए इनके मानदेय में बढ़ोतरी करेंगे। इसके लिउ हम वचनबद्ध है। अगले ट्वीट में कमलनाथ ने ट्वीट कर लिखा है कि भाजपा सरकार के कार्यकाल में नौकरी से बाहर किए गए संविदा कर्मचारियों को कांग्रेस सरकार के दौरान प्रारंभ की गई निष्कासित वापसी प्रक्रिया को जल्द पूरा करते हुए निष्कासित संविदा कर्मचारियों को पुन: नौकरी में बहाल किया जाएगा, इसके लिए हम वचनबद्ध हैं।

वहीं आखिरी ट्वीट में नाथ लिखा है कि कांग्रेस सरकार बनने पर संविदा कर्मचारियों व रोजगार सहायकों को नियमित करते हुए, इनका मानदेय एवं सुविधाएं नियमित कर्मचारियों की तरह ही करेंगे। खास बात ये है कि 2018 के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के वचन पत्र ने महत्वपूर्व भूमिका निभाई थी और 15 साल के वनवास के बाद प्रदेश की सत्ता हासिल की थी। इसी तर्ज पर कांग्रेस उपचुनावों में भी वही मास्टरस्ट्रोक खेलने जा रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co