Raj Express
www.rajexpress.co
श्रमिक को मारने के आदेश के विरोध में श्रमिकों ने की हड़ताल
श्रमिक को मारने के आदेश के विरोध में श्रमिकों ने की हड़ताल|Raj Express
मध्य प्रदेश

नागदाः श्रमिक को मारने के आदेश के विरोध में श्रमिकों ने की हड़ताल

नागदा, मध्यप्रदेशः ग्रेसिम उद्योग में श्रमिक नेता द्वारा विरोध कर रहे ठेका श्रमिकों को मारने के आदेश के बाद विवाद बढ़ गया है जिसके चलते सुबह इसके विरोध में श्रमिकों ने हड़ताल कर दी।

Deepika Pal

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश के नागदा जिले में ग्रेसिम उद्योग के पांच सालाना समझौते की जानकारी देने पहुंचे नेताओं का विरोध एक ठेका श्रमिक द्वारा करने पर श्रमिक नेता ने मारने का आदेश दे दिया, जिससे मामला इतना बढ़ गया कि ठेका श्रमिकों ने विरोध में हड़ताल की घोषणा कर दी।

क्या है मामलाः

जानकारी के मुताबिक, ग्रेसिम उद्योग के पांच सालाना समझौते की जानकारी देने गेट पर पहुंचे नेताओं का विरोध ठेका श्रमिकों ने किया इससे बौखला कर श्रमिक नेता जोधसिंह राठौर ने माइक से ही साथ लाए लट्ठेतों से ठेका श्रमिकों को मारने का आदेश दे दिया । इसके बाद विवाद इतना बढ़ गया कि दोनों तरफ से लाठियॉ चली । इसके विरोध में ठेका श्रमिकों ने रात में ही हड़ताल की घोषणा कर दी। स्थायी व बदली श्रमिकों ने हड़ताल पर पूरा समर्थन किया ।

मिली सूचना के अनुसार, श्रमिक के नेता ने कंपनी के नियमों के अधीन ठेका श्रमिकों के बीच समझौता कराया था जो ठेका श्रमिकों को मान्य नहीं लगा। जिस संबंध में एक ठेका श्रमिक ने विरोध किया जिससे बौखला कर श्रमिकों के नेता ने ठेका श्रमिक को मारने का आदेश दिया , साथ ही श्रमिक नेता के साथियों और ठेका श्रमिकों के बीच गाली-गलौच और विवाद बढ़ गया ।

समझौते से नाखुश थे ठेका श्रमिक
समझौते से नाखुश थे ठेका श्रमिक
Raj Express

समझौते की कॉपी दूसरे दिन भी नहीं की सार्वजनिकः

इस संबंध में नेताओं ने समझौते की कॉपी दूसरे दिन भी सार्वजनिक नहीं की सिर्फ मौखिक जानकारी दे रहे हैं जिसमें 8900 रूपए स्थायी व बदली श्रमिकों की बढ़ोत्तरी बता रहे हैं जबकि श्रमिकों का कहना है कि प्रतिमाह 3200 रूपए ही हाथ लगेंगे ।

समझौते से नाखुश थे ठेका श्रमिकः

इस संबंध में ठेका श्रमिकों ने कहा कि, 25, 40, 60 क्रमश: बढ़ोत्तरी बता रहे हैं जिससे श्रमिक खुश नहीं है उनकी मांग 150 रूपए प्रतिदिन बढ़ोत्तरी की है । समान काम समान वेतन की है । नेता समझौता नहीं करेंगे हम स्वयं सार्वजनिक रूप से समझौता करेंगे ।

पुलिस व्यवस्था बढ़ाई गई
पुलिस व्यवस्था बढ़ाई गई
Raj Express

पुलिस व्यवस्था बढ़ाई गई :

बढ़ते मामले और हड़ताल की गंभीरता को देखते हुए प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है।