Raj Express
www.rajexpress.co
मंत्री के पीए का नंबर मांगने की बात पर हुआ विवाद
मंत्री के पीए का नंबर मांगने की बात पर हुआ विवाद|Ganesh Dunge
मध्य प्रदेश

बुरहानपुर: मंत्री के पीए का नंबर मांगने की बात पर हुआ विवाद

बुरहानपुर, मध्य प्रदेश: अध्यक्ष, पूर्व विधायक ने पीए को नंबर लिखने को कहा तो बीच में बोले प्रदेश महासचिव मत लिखवाओं, इस बात पर सिलावट के सामने भिड़े।

Ganesh Dunge

Ganesh Dunge

राज एक्सप्रेस। मंगलवार शाम जिले के दौरे पर पहुंचे स्वास्थ्य व जिले के प्रभारी मंत्री तुलसी सिलावट के सामने रेस्ट हाउस में माहौल गर्मा गया। कांग्रेस ग्रामीण अध्यक्ष किशोर महाजन और पूर्व विधायक रविंद्र महाजन ने सिलावट के पीए को अपना नंबर लिखवाना चाहा, तो बीच में खंडवा के रहने वाले कांग्रेस के प्रदेश महासचिव परमजीतसिंह नागर बोल पड़े कि, नंबर मत लिखवाओं। परमजीतसिंह के इतना कहते ही किशोर महाजन और रविंद्र महाजन का गुस्सा फूट पड़ा। दोनों परमजीतसिंह पर बरस पड़े। बात झूमाझटकी तक आ पहुंची।

तीनो एक-दूसरे को हाथ लगाते इससे पहले ही एसपी अजयसिंह और मंत्री तुलसी सिलावट ने बीच बचाव कर दोनों को शांत किया। इसके बाद सिलावट किशोर और रविंद्र को कमरे में लेकर गए। बंद कमरे में चर्चा की। बाहर निकले सिलावट ने कहा, ये पार्टी का आपस का मामला है। मनमुटाव होगा तो दूर करवाएंगे।

यह है पूरा मामला :

स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट शाम 4 बजे रेस्ट हाउस पहुंचे। यहां पर स्वागत के लिए शहर कांग्रेस जिलाध्यक्ष अजयसिंह रघुवंशी, कांग्रेस ग्रामीण अध्यक्ष किशोर महाजन, पूर्व विधायक रविंद्र महाजन सहित अन्य जनप्रतिनिधि मौजूद थे। जैसे ही सिलावट की कार रेस्ट हाउस में आई पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया। इस बीच किशोर महाजन और रविंद्र महाजन ने सिलावट से कहा कि, आपके दौरे की जानकारी हमें नहीं मिलती है, हमें भी जानकारी मिलना जरूरी है। ताकि हम आपके आने से कुछ जरूरी तैयारियां कर लें और समस्याएं भी आपके सामने रख सकें। इसके लिए किशोर और रविंद्र ने सिलावट के पीए से कहा कि, आप हमारा नंबर लीजिए और हमें दौरे या अन्य कार्यक्रमों की सूचना देते रहे। जैसे ही रविंद्र और किशोर नंबर लिखवाने लगे, तो सिलावट के साथ रेस्ट हाउस पहुंचे कांग्रेस के प्रदेश महासचिव परमजीतसिंह नागर ने बीच में टोक दिया कि, आप नंबर मत लिखवाओं। इसके बाद माहौल गर्मा गया और रविंद्र महाजन और किशोर महाजन का परमजीतसिंह से विवाद हो गया। तीनों ने एक-दूसरे को खूब भला, बुरा कहा। उन्हें शांत करवाने के लिए अन्य लोगों ने बीच बचाव किया। इसके बाद सिलावट ने दोनों को समझाई।

मंत्री के पीए का नंबर मांगने की बात पर हुआ विवाद
मंत्री के पीए का नंबर मांगने की बात पर हुआ विवाद
Ganesh Dunge

प्रभारी मंत्री का कहना :

इस संबंध में मिडिया से चर्चा करते हुए प्रभारी मंत्री ने कहा कि, कांग्रेस के सभी नेता एक परिवार के रूप में काम करते है, किसी बात पर मनमुटाव होता है, तो उसे आपस में बैठकर सुलझा लिया जायेगा। सभी को अपनी बात रखने का पूरा अधिकार है। जिस नेता का कार्यक्षेत्र जिस जिले में उसे वही बोलने का अधिकार दिया जायेगा।

दंगल फिर चर्चाओं का माहौल :

कांग्रेस पार्टी पूरी तरह से एकजुट है। रेस्ट हाउस से सिलावट जिला योजना समिति की बैठक में शामिल होने के लिए कलेक्टोरेट के लिए रवाना हो गए। उनके साथ विधायक ठाकुर सुरेंद्रसिंह भी थे। उल्लेखनीय है कि, कांग्रेस की गुटबाजी किसी से छिपी नहीं है। रेस्ट हाउस में विवाद के बाद भी राजनीति के दंगल फिर चर्चाओं का माहौल गर्म हो गया। विधानसभा चुनाव की शुरूआत से ही शहर में कांग्रेस के कार्यकर्ता अलग-अलग दिशाओं में चले। पदाधिकारियों ने भी गुटबाजी में कोई कसर नहीं छोड़ी।

इनका कहना :

प्रभारी मंत्री का कहना है कि, पार्टी का प्रत्येक कार्यकर्ता परिवार की तरह है, किसी को कुछ समस्या है, तो इसे आपस में मिल बैठकर सुलझा लिया जायेगा। बुरहानपुर के नेताओं की बुरहानपुर में चलेगी व खण्डवा के नेताओं की खण्डवा में।