Raj Express
www.rajexpress.co
रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार
रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार|Anil Tiwari
मध्य प्रदेश

लोकायुक्त की कार्यवाही-DEO ट्राइबल रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार

मध्यप्रदेश के पन्ना जिले के नवीन कलेक्ट्रेट परिसर में पहली मंजिल में स्थित आदिम जाति कल्याण विभाग के आफिस में जिला संयोजक को रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया।

Anil Tiwari

हाइलाइट्स :

  • रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया डीईओं ट्राइबल

  • साईकिल स्टैण्ड के निर्माण पर मांगी थी 27 हजार की रिश्वत

  • पीड़ित अधीक्षिका की शिकायत पर लोकायुक्त पुलिस ने की कार्यवाही

  • नवीन कलेक्ट्रेट परिसर में लोकायुक्त पुलिस द्वारा की गई कार्यवाही

  • कलेक्टर कार्यालय के ऊपर ट्राइबल आफिस में हुई कार्यवाही

  • देर शाम आदिम जाति कल्याण विभाग के जिला संयोजक लोकायुक्त में हुए ट्रेस

राज एक्सप्रेस। मध्यप्रदेश के पन्ना जिले के नवीन कलेक्ट्रेट परिसर में पहली मंजिल में स्थित आदिम जाति कल्याण विभाग के आफिस में जिला संयोजक को रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया। देर शाम हुई कार्यवाही से पूरे कलेक्ट्रेट परिसर में अफरा-तफरी का माहौल हो गया। कलेक्टर आफिस के ऊपर देर शाम जिला संयोजक आदिम जाति कल्याण विभाग के जिला संयोजक साबित खान को 27 हजार की रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया।

इस पूरे मामले के संबंध में बताया-

इस पूरे मामले के संबंध में बताया गया कि, इन्द्रपुरी कालोनी शासकीय अनुसूचित जाति कन्या महाविद्यालय छात्रावास क्रमांक-1 में छात्राओं के लिए साईकिल स्टैण्ड के लिए 1 लाख 80 हजार की राशि स्वीकृत की गई थी जिसके एवज में जिला संयोजक द्वारा 15 प्रतिशत की कमीशन की राशि रिश्वत के तौर पर मांग जा रही थी। बार-बार राशि मांगे जाने को लेकर छात्रावास में पदस्थ अधीक्षिका कृष्णा सोनी परेशान हो गई और इसकी शिकायत लोकायुक्त पुलिस को दी। जिस पर आज देर शाम लोकायुक्त पुलिस द्वारा कार्यवाही को अंजाम दिया गया।

साईकिल स्टैण्ड के निर्माण पर मांगी थी 27 हजार की रिश्वत
साईकिल स्टैण्ड के निर्माण पर मांगी थी 27 हजार की रिश्वत
Anil Tiwari

आफिस में ही लोकायुक्त पुलिस ने की कार्यवाही

सुनियोजित ढंग से आज लोकायुक्त पुलिस ने आदिम जाति कल्याण विभाग में पूरी कार्यवाही को अंजाम दिया गया। लोकायुक्त डीएसपी राजेश खेडे के नेतृत्व में पन्ना पहुंची लोकायुक्त टीम ने रंग से लगे हुए नोट अधीक्षिका कृष्णा सोनी को दिये, जब अधीक्षिका द्वारा जिला संयोजक को 25 हजार की राशि दी, तो उन्होंने दो हजार रू. की और मांग की। जिस पर 27 हजार की राशि रिश्वत के तौर पर जिला संयोजक को दी गई और वह जैसे ही बाहर निकली वैसे ही लोकायुक्त पुलिस ने आफिस के अंदर पहुंचकर रंग से लगे हुए नोट बरामद किये।

अधीक्षिका ने बताया कि

साईकिल स्टैण्ड के निर्माण के नाम पर 15 प्रतिशत की राशि मांगी जा रही थी, जिस पर मुझे कई दिनों से परेशान किया जा रहा था, जिससे परेशान होकर मैने इसकी सूचना लोकायुक्त पुलिस को दी और उनके द्वारा आज कार्यवाही की गई।

कलेक्ट्रेट परिसर में मची अफरा-तफरी

नवीन कलेक्ट्रेट परिसर में लोकायुक्त पुलिस द्वारा पहली कार्यवाही की गई। जिस कार्यालय के अंदर कार्यवाही हुई उसके नीचे कलेक्टर का आफिस था। खबर लगते ही कलेक्ट्रेट परिसर में अफरा-तफरी का माहौल निर्मित हो गया। जहां के कर्मचारी कार्यवाही को देख यहां वहां भटकते हुए देखे गये। हर कोई यही कहता हुआ नजर आया कि, नवीन कलेक्ट्रेट में यह पहली कार्यवाही है। रिश्वत के मामले में आरोपी जिला संयोजक आदिम जाति कल्याण विभाग साबित खान के ऊपर भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत कार्यवाही की गई।

गौरतलब है कि, जिले में रिश्वत के मामले अक्सर देखने को मिलते हैं। जहां समय-समय पर लोकायुक्त पुलिस रिश्वतखोरों पर कार्यवाही करती है लेकिन इसके बाद भी रिश्वत लेने के मामले कम नही होते हैं। जहां पर शासकीय विभागों में बिना पैसे के काम नही होता है और लोग बाग थक हार कर लोकायुक्त पुलिस के पास पहुंच जाते हैं और जिले में इस प्रकार की कार्यवाही को अंजाम दिया जाता है।

अधीक्षिका द्वारा शिकायत की गई थी कि साईकिल स्टैण्ड के नाम पर साबित खान द्वारा रिश्वत की मांग की जा रही है, शिकायत की तस्दीक की गई तो शिकायत सही पाई, जिस पर आज जिला संयोजक साबित खान को 27 हजार की रिश्वत लेते हुए पकड़ा है।

राजेश खेडे डीएसपी लोकायुक्त पुलिस सागर

मेरे आफिस में अधीक्षिका आई थी और बोली कि आप छात्रावास का निरीक्षण कर ले लेकिन मैंने मना कर दिया कि मुझे मीटिंग में जाना है तभी दोबारा आई और कुछ मेरे टेबिल के दराज में रख दिया इसके बाद लोकायुक्त पुलिस आई और कार्यवाही करने लगी मेरे हाथों से पैसे बरामद नहीं हुए हैं और न ही मेरे हाथों में रंग पाया गया है।

साबित खान जिला संयोजक आदिम जाति कल्याण विभाग पन्ना

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।