कोरोना का असर: अधिकारी-कर्मचारियों के अप डाउन करने पर रोक
कोरोना का असर: अधिकारी-कर्मचारियों के अप डाउन करने पर रोक|Raj Express
मध्य प्रदेश

कोरोना का असर: अधिकारी-कर्मचारियों के अप डाउन करने पर रोक

ग्वालियर, मध्य प्रदेश: अधिकारी या कर्मचारियों के अप डाउन करते पाए जाने पर होगी कड़ी कार्रवाई, अभी भिण्ड, मुरैना एवं शिवपुरी सहित आसपास के जिलो में करते है अप डाउन।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

ग्वालियर, मध्य प्रदेश। कोरोना के चलते जब लॉक डाउन लगा हुआ था उस समय भी अधिकारी व कर्मचारी अप डाउन करने से परहेज नहीं करते थे। उस समय ऐसे लोगों पर बंदिश लगाने का काम नहीं किया गया था ओर अनलॉक होने के बाद अब अप डाउन करने वाले अधिकारी व कर्मचारियों पर पाबंदी लगाने का काम जिला प्रशासन ने किया है। ग्वालियर से प्रतिदिन आसपास के जिलों में सैकड़ों की संख्या में कर्मचारी व अधिकारी अप डाउन करते है जिसके कारण वह कार्यालय में समय कम दे पाते है।

अप डाउन क रने के कारण अधिकारी व कर्मचारी न तो समय पर दफ्तर पहुंच पाते है ओर समय से पहले वहां से निकल लेते है। इसके कारण काम प्रभावित होता है। इस तरफ अभी तक किसी की भी नजर नहीं जाती थी, इसका कारण यह है कि जो कार्रवाई करने वाले अधिकारी होते है वहीं अप डाउन कर समय पर दफ्तर नहीं पहुंच पाते तो वह अपने अधीनस्थों पर क्या कार्रवाई करेंगे? कोरोना के चलते लॉक डाउन के समय कुछ हद तक इस पर रोक लगी थी, लेकिन उस समय दफ्तरो में हाजिरी कम रखी थी, जिसके कारण अधिकांश कर्मचारी घर बैठे हाजिरी भरते रहे थे। अब कोरोना लॉक डाउन के बाद अनलॉक कर दिया गया है ओर दफ्तर भी खुल चुके है, लेकिन कोरोना का असर बढ़ता जा रहा है जिसके कारण जिला प्रशासन ने सख्त निर्देश दिए है कि जिले से अब कोई भी कर्मचारी अप डाउन नहीं करेगा। जिला प्रशासन ने यह निर्देश राज्य शासन से मिले दिशा निर्देश के बाद जारी किए है। अप डाउन की स्थिति वर्तमान में यह है कि परिवहन सेवा पूरी तरह से बंद है, इसके कारण कर्मचारी छोटे वाहनों से अपने कार्यस्थल तक पहुंचने का काम कर रहे है, लेकिन उसकी संख्या काफी कम है।

सैकड़ों की संख्या में करते है अप डाउन :

ग्वालियर के आसपास के जिलों मुरैना, भिण्ड, दतिया एवं शिवपुरी में शासकीय सेवा में काम करने वाले सैकड़ों क ी संख्या में प्रतिदिन अप डाउन करते है। इस अप डाउन पर कई बार रोक लगाने का प्रयास किया गया, लेकिन ऐसा संभव नहीं हो सका। इसके पीछे कारण यह है कि अधिकारी स्वयं ग्वालियर में ही रहना पसंद करते है जिसके कारण वह कर्मचारियों पर सख्ती नहीं दिखा पाते। अप डाउन के फैशन के कारण संबंधित जिलों में शासकीय कार्यालयों में ऐसे कर्मचारी देरी से पहुंचते है ओर समय से पहले निकल लेते है। इसके कारण शासकीय काम प्रभावित होता है। कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए ग्वालियर जिला प्रशासन ने अपनी सीमाएं सील कर दी है ओर हर आने वाले व्यक्ति की सीमा पर स्क्रीनिंग करने के निर्देश दिए है। यही कारण है कि जिला प्रशासन ने सख्त निर्देश दिए है कि जो भी अधिकारी व कर्मचारी आसपास के जिलों में अप डाउन करते है वह इस पर रोक लगाएं ओर जहां कार्यस्थल है अब वहीं रहे। जिला प्रशासन ने आदेश तो दे दिया, लेकिन उसका कितना असर होता है यह आने वाला समय ही बताएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co