मध्य प्रदेश : भोपाल में नहीं थम रहा कोरोना संक्रमण, 39 नये मरीज मिले
मध्य प्रदेश : भोपाल में नहीं थम रहा कोरोना संक्रमण, 39 नये मरीज मिलेKratik Sahu-RE

मध्य प्रदेश : भोपाल में नहीं थम रहा कोरोना संक्रमण, 39 नये मरीज मिले

भोपाल, मध्य प्रदेश। राजधानी में कोरोना के 39 नए मामले सामने आए हैं। जिसमें सबसे ज्यादा मामले भोपाल के बाणगंगा के स्लम इलाके से सामने आए हैं। यहां कोरोना के 11 नए मामले सामने आए।

भोपाल, मध्य प्रदेश। देश अनलॉक होने के साथ ही अब कोरोना के मामलों ने तेजी पकड़ ली है। अनलॉक 1 की जो तस्वीरें सामने आ रही हैं वह काफी हैरान करने वाली हैं। बाजारों में भीड़-भाड़ बढ़ाने से एक बार फिर कोरोना की रफ्तार तेज होने शुरू हो गई है। भोपाल में इसका असर अब दिखाने लगा है। शुक्रवार को भोपाल में 52 कोरोना के नए मरीज मिले थे, वहीं शनिवार को आई रिपोर्ट के अंदर भोपाल में 39 नए कोरोना के मरीज मिले हैं। अब भोपाल में कुल मरीजों की संख्या बढ़ के 1773 हो गई है। सरकार ने जून और जुलाई में संक्रमण फैलान की सबसे ज्यादा आशंका जताई है। बावजूद इसके प्रशासन बाजारों में जुटने वाली भीड़ को नियंत्रण में नहीं कर पा रहा है।

उच्य शिक्षा विभाग के अधिकारी की हुई मौत :

राजधानी में कोरोना से मौत संख्या बढ़ के 61 हो गई है। वहीं सतपुड़ा भवन में निकले उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारी डॉ. सुनील पारे की कोरोना से मौत हो गई है। कुछ दिन पहले ही अधिकारी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया था।

नया हॉटस्पॉट बना बाणगंगा :

राजधानी में कोरोना के 39 नए मामले सामने आए हैं। जिसमें सबसे ज्यादा मामले भोपाल के बाणगंगा के स्लम इलाके से सामने आए है। यहां कोरोना के 11 नए मामले सामने आए। यहां एक 2 साल की बच्ची भी कोरोना पॉजिटिव निकली है। इसके साथ ही बाणगंगा एक नए हॉटस्पॉट के रूप में तब्दील हो गया है। वहीं बंगरसिया में भी सीआरपीएफ कैम्पस में भी एक कोरोना पॉजिटिव आने की सूचना मिली है। बाकी अन्य मरीज शहर के अलग अलग हिस्सों से मिले हैं।

1773 में से 1152 डिसचार्ज :

राजधानी में जिस तेजी से संक्रमण बढ़ रहा है उसकी दुगनी रफ्तार से संक्रमण ठीक भी होते जा रहा है। शनिवार को 53 मरीज ठीक हो कर अस्पताल से डिसचार्ज हुए हैं। राजधानी में आए कुल 1773 केसों में से 1152 मरीज ठीक हो कर अस्पताल से डिसचार्ज हो गए हैं। वहीं इस संक्रमण से 61 लोगों की मौत हो चुकी है। अब सिर्फ 500 के करीब एक्टिव केस भोपाल में बचे हैं।

संक्रमण सीआरपीएफ और आरजीपीवी गर्ल्स हॉस्टल तक :

संक्रमण सीआरपीएफ और आरजीपीवी गर्ल्स हॉस्टल तक पहुंच गया है। सीआरपीएफ जीसी बंगरसिया में एक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। वहीं, राजीव गांधी प्रोद्योगिकी विश्वविद्यालय (आरजीपीवी) गर्ल्स हॉस्टल में एक महिला कोरोना पॉजिटिव पाई गई हैं। नए मरीजों में बाणगंगा रोशनपुरा क्षेत्र में 10 केस, कोटरा सुल्तानाबाद में 3, गरमगड्डा बीमा बिल्डिंग में 2 और साइन अपार्टमेंट में कोरोना के 2 मरीज पाए गए हैं।

शनिवार को मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, 784 सैंपल निगेटिव और 39 पॉजीटिव मिले हैं। जिले में अब तक 61 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। वहीं शनिवार को चिरायु अस्पताल से संक्रमण को मात देकर स्वस्थ होने वाले 28 लोगों को छुट्टी दे दी गई। इसके साथ ही भोपाल में कोरोना से स्वस्थ होने वालों की तादात बढ़कर 1152 हो गई है। शुक्रवार को हमीदिया अस्पताल, गांधी मेडिकल कॉलेज और चिरायु से कुल 53 लोग संक्रमण मुक्त होने पर डिस्चार्ज किए गए थे। भोपाल में लगभग ढाई माह पहले कोरोना का पहला प्रकरण दर्ज किया गया था। जब लंदन से लौटी एक लॉ की छात्रा कोरोना संक्रमित पाई गई थी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co