Anuppur : शासकीय धन की होली खेल रहा भ्रष्ट इंजीनियर
गुणवत्ताविहीन निर्माण कार्यShrisitaram Patel

Anuppur : शासकीय धन की होली खेल रहा भ्रष्ट इंजीनियर

अनूपपुर, मध्यप्रदेश : सेक्टर गौरेला के सभी पंचायतों में गुणवत्ताविहीन निर्माण कार्य। शिकायतें दर्जनों पर अधिकारियों की मेहरबानी से आज तक नहीं हुई कार्यवाही।

अनूपपुर, मध्यप्रदेश। कई वर्षो से जनपद जैतहरी में अपनी जड़े जमाये बैठा इंजीनियर रिंकू सोनी के काले कारनमों की शिकायत दर्जनों बार सीईओ से लेकर कलेक्टर तक हुई हैं, लेकिन सिस्टम से लाचार इन अधिकारियों ने जांच और कार्यवाही का आश्वासन तो दिया, लेकिन बाद में ग्रामीणों को आल-इज-बेल का नारा सुनाई देता है, फिलहाल वर्तमान में जिस सेक्टर का प्रभार इंजीनियर को दिया गया है वहां लगभग 12 पंचायतें आते हैं, जिनका हाल निर्माण को देखकर पता लगाया जा सकता है।

जनपद पंचायत जैतहरी के सेक्टर गौरेला की जिम्मेदारी जिस इंजीनियर को दी गई है, उसके काले कारनामों पर पहले भी प्रश्न चिन्ह लग चुका है, कम समय में अकूत संपत्ति अर्जित कर टू-बीएचके से थ्री-बीएचके में प्रवेश करने वाले इंजीनियर पर कार्यवाही होना ग्रामीणों के लिए एक सपना ही है, 3 जुलाई 2020 को सीईओ के पास शिकायत की गई थी, वहीं दर्जनों ग्रामीण 7 जुलाई 2020 को कलेक्ट्रेट पहुंच कर रिंकू सोनी की शिकायत करते हुए निर्माण कार्यो की जांच व कार्यवाही की मांग की थी, लेकिन एक वर्ष बीत जाने के बाद भी जिला प्रशासन द्वारा कोई कदम नहीं उठाया गया। आज हालात यह है कि ग्रामीण अपने आप को ठगा महसूस कर रहे हैं और प्रशासनिक गतिविधियो पर प्रश्र चिन्ह उठा रहे हैं।

भ्रष्टाचारियों को अभयदान :

भ्रष्टाचार से जैतहरी जनपद का पुराना नाता रहा है, चाहे वह जनपद सीईओ हो, उपयंत्री, सरपंच, सचिव या अन्य कर्मचारी अधिकारी, इन्होने भ्रष्टाचार की नई इबारत लिखने में कोई कसर नही छोड़ी, उन्हीं में से एक नाम जनपद में पदस्थ उपयंत्री रिंकू सोनी का है। आरोप तो सभी पर लगते हैं पर प्रमाण जब सिद्ध हो जाये तो कार्यवाही करने पर नौकरशाह परहेज क्यों करते हैं। हो सकता है कि अपने निजी हितों के चलते भ्रष्टाचारियों को अभयदान दिया गया होगा, लेकिन उन गरीबों का क्या जो कि सरकार से मिलने वाली सहायताओं से ही निर्भर है।

निर्माण बता रहे इंजीनियर की करतूत :

जनपद जैतहरी के ग्राम पंचायत पंगना, दुधमनिया, गौरेला व भेलमा सहित गोबरी, कासा के साथ अन्य ग्राम पंचायतों में होने वाले निर्माण कार्य की गुणवत्ता देख कर सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि इंजीनियर कितना जुगाडू है, कभी खुद ही ठेेकेदार बन जाता है, तो कभी चोरी की रेत से निर्माण कार्यो को अंजाम देता आ रहा है। उच्चाधिकारियों को इंजीनियर के कृत्य की पूर्ण जानकारी होने के बाद भी कार्यवाही के लिए कतराना कई सवालों को जन्म देता है।

ग्रामीणों के विश्वास पर आघात :

बीते वर्ष इंजीनियर को हटाने के लिए सौकड़ों ग्रामीण कलेक्ट्रेट की दहलीज पर पहुंचे थे, जहां अपने नारों को बुलंद करते हुए भ्रष्ट इंजीनियर पर कार्यवाही की मांग की थी और शिकायत पत्र लेते हुए अधिकारियों ने ग्रामीणों को आश्वासन का झुनझुना पकड़ा दिया था। वर्ष तो बीत गया, लेकिन भ्रष्ट इंजीनियर रिंकू सोनी तक प्रशासन के हाथ नहीं पहुंच पाए और आज भी सेक्टर गौरेला में पदस्थ रह कर भ्रष्टाचार को अंजाम दे रहा है।

दिखावे के लिए बना चेक डेम :

सेक्टर गौरेला के ग्राम पंचायत दुधमनिया में बनाए गए आधा दर्जन चेक डेम किसी काम के नहीं है, महज शासकीय राशि का बंदरबाट करने के लिए बना दिया गया, ग्रामीणों का कहना है कि आज तक इस चेक डेम के माध्यम से किसी को कोई लाभ नहीं मिला और न ही कभी पानी रुका। कुल मिला कर दिखावे के लिए चेक डेम का निर्माण कर दिया गया, कुछ जगह तो ऐसे भी हैं जहां आवश्यकता नही वहां भी चेक डेम का निर्माण करा दिया गया है।

कार्यवाही की मांग :

शिकायत पत्र लेकर पहुंचे सैकड़ों ग्रामीणों ने एक बार फिर कलेक्टर से उपयंत्री रिंकू सोनी के साथ सभी जिम्मेदारों के कार्यो की उच्चस्तरीय तकनीकी अधिकारी से जांच कराये जाने की मांग करते हुए, दोषियों व ऐसे भ्रष्ट इंजीनियर के ऊपर कार्यवाही की मांग की है, अगर समय रहते जांच व कार्यवाही नहीं की गई तो ग्रामीणों ने कहा कि अनशन में बैठेंगे, जब तक इन भ्रष्टाचारी अधिकारी व कर्मचारियों पर कार्यवाही नहीं हो जाती है।

इनका कहना है :

मामले की शिकायत उच्चाधिकारियों को की गई है, तो उसमें कुछ नही कह सकता, आप सीईओ जिला पंचायत से बात कर लीजिए।

सतीश तिवारी, सीईओ, जनपद पंचायत जैतहरी

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co